बाड़मेर. कृषि विज्ञान केन्द्र गुड़ामालानी में अंतरराष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष२०२३ के परिप्रेक्ष्य में पोषक वाटिका महाअभियान एवं पौधरोपण कार्यक्रम भारत अमृत महोत्सव का आयोजन केन्द्र प्रांगण में किया गया।

मुख्य अतिथि केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि देश को मजबूत और सुरक्षित बनाने के लिए बच्चों का स्वस्थ होना जरूरी है। स्वस्थ बच्चे ही देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे इसलिए बच्चों के पोषण में विभागों के साथ आम लोगों की सहभागिता जरूरी है।

उन्होंने कहा कि जिले में बाजरा सबसे ज्यादा बोया जाता है तथा सबसे ज्यादा पोशक तत्व वाला खाद्यान्न है। अत: अब इसके मूल्य संवर्धन एवं प्रसंस्करण पर ज्यादा से ज्यादा जोर दिया जाना है ताकि आने वाले समय में बाजरा पोषक अनाज में एक अच्छा माध्यम बने सके। निदेशक प्रसार शिक्षा निदेशालय, कृषि विश्वविद्यालय जोधपुर डॉ. ईश्वर सिंह ने कार्यक्रम की महता की जानकारी प्रदान की। उन्होंने कृषि विश्वविद्यालय जोधपुर की क्विनोआ व चिया जैसी नयी पोषक फसलों पर अनुसन्धान के बारे में जानकारी दी।

आईसीएआर, अटारी जोन-द्वितीय, जोधपुर डॉ. एस.के. सिंह निदेशक ने क्लस्टर व अग्ररेखित प्रदर्शनों के माध्यम से प्रौद्योगिकी का हस्तांतरण, मूल्य संवर्धित उत्पादों, पोषण मिशन अभियान में मिलेट्स को शामिल करने जैसे कदम के बारे में बताया। अमराराम चौधरी पूर्व राजस्व मंत्री राजस्थान सरकार ने कहा कि पोषण अभियान सही चीज देने की कोशिश कर रहा है, यह महिलाओं और बच्चों के लिए उच्च संभावित हस्तक्षेपों का एक अच्छा सेट है और लक्ष्य २०२२ के लिए है जो संभव है। के.के. विश्नोई प्रदेशमंत्री भाजपा, पाटोदी प्रधान, बिजलाराम प्रधान पंचायत समिति गुड़ामालानी, लेहरोंदेवी, प्रधान पंचायत समिति आड़ेल, प्रमोद कुमार उपखंड अधिकारी गुड़ामालानी, इफको के हरिबाबू जाटव, बीरबल मीणा उपस्थित रहे।

इससे पूव्र प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद पोल्ट्री, बाजरे के विभिन्न उत्पादों सहित नवीन सामग्रियों का अतिथियों ने अवलोकन किया गया। सहजन, पपीते के पोधों सहित इफको के सहयोग से सब्जी किट वितरण किए गए। पौधरोपण भी किया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned