नई पेयजल लाइन अधूरी, पुरानी जर्जर, व्यर्थ बह रहा पानी, ग्रामीण परेशान

- मार्गों पर जमा पानी व फैले कीचड़ से आवागमन मुश्किल

By: Dilip dave

Published: 07 Jan 2019, 11:53 PM IST

 


बालोतरा.

ग्राम पंचायत खंडप में पेयजल लाइन के अधूरे कार्य के चलते लोगों को परेशानी सहनी पड़ रही है। पेयजल आपूर्ति के दौरान पानी बहने से यहां हर वक्त कीचड़ रहने से आवागमन में दिक्कत होती है। परेशान रहवासी जिला,उपखंड प्रशासन व जलदाय विभाग अधिकारियों को समस्या से अवगत करवाते-करवाते थक हार चुके हंै, लेकिन समाधान के नाम पर इन्हें आश्वासन दिए जा रहे हैं। इससे ग्रामीणों में रोष है।
ग्राम पंचायत खंडप, उपखंड सिवाना की बड़ी ग्राम पंचायतों में से एक है। करीब दस हजार की आबादी वाली ग्राम पंचायत को उम्मेदसागर-धवा-समदड़ी-खंडप पेयजल परियोजना से जोड़ा गया है। अच्छी पेयजल व्यवस्था के लिए करीब एक वर्ष पूर्व गांव में नई पेयजल लाइन बिछाई गई। ग्रामीणों के अनुसार जिम्मेदारों ने पूरे गांव में नई पेयजल लाइन नहीं बिछाई। इसके चलते पेयजल आपूर्ति दौरान दशकों पुरानी पेयजल लाइनों में लीकेज होने से सड़कों पर व्यर्थ में पानी बहता है। इससे फैले कीचड़ पर ग्रामीणों का मार्गों से पैदल गुजरना मुश्किल हो जाता है। कीचड़ में से वाहन लेकर गुजरने पर ये रपटते हैं। इससे चालक, सवार चोटिल होते हैं। विशेषकर रात्रि में कीचड़ भरे मार्गों से गुजरने में ग्रामीणों को अधिक परेशानी उठानी पड़ती है।

कीचड़ में पनपे मच्छरों पर ग्रामीण खुले में भी नहीं बैठ पाते हैं। पिछले आठ माह से परेशान ग्रामीण कई बार उपखंड व जिला प्रशासन व जलदाय विभाग अधिकारियों को मौखिक व लिखित में समस्या से अवगत करवाकर पुरानी लाइन के लीकेज ठीक करवाने अथवा छोड़े गए मोहल्लों में नई पेयजल लाइन बिछाने की मांग कर चुके हैं, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

पेयजल लान का कार्य नहीं पूरा-
गांव में स्वीकृत पेयजल लाइन का कार्य पूरा नहीं किया गया। प्रशासन की ओर से करवाई जांच में आज भी ग्यारह मोहल्लों में पेयजल लाइन नहीं बिछाई गई। पुरानी लीकेज पाइपों से बहते पानी व इससे फैले कीचड़ से हर दिन परेशानी उठाते हैं।

राणसिंह भायल

व्यर्थ बह रहा पानी- गांव में पेयजल आपूर्ति के दौरान पुरानी लीकेज पाइपों से बड़ी मात्रा में पानी बहता है। मार्गों में जमा पानी, फैले कीचड़ पर पैदल गुजरना मुश्किल हो गया है। वाहन रपटने से चालक,सवार चोटिल होते हैं। प्रशासन, जनप्रनिधियों को बीसियों बार अवगत करवा चुके हैं, लेकिन सुनवाईनहीं की जा रही है।
माधूसिंह

 

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned