क्षमा मांगने की सीख देता है निरंकारी मिशन

https://www.patrika.com/barmer-news/

By: Omprakash Prakash Mali

Published: 07 Jan 2019, 07:00 PM IST

क्षमा मांगने की सीख देता है निरंकारी मिशन
बाड़मेर . जैसलमेर रोड स्थित संत निरंकारी भवन में रविवार को क्षमा याचना दिवस मनाया गया। इसमें नवम्बर में हरियाणा के समालखा में 71वें अंतरराष्ट्रीय संत निरंकारी समागम तथा वर्षभर के विभिन्न आयोजनों में हुई गलतियों की सदगुरु के सम्मुख माफी मांगी।
कार्यक्रम में सेवादल के सदस्यों ने प्रार्थना, पीटी-परेड, मार्चिंग गीत प्रस्तुत किए। सोना एंड पार्टी ने लघु नाटिका की प्रस्तुति दी। शिक्षक सेवादल विनोद कुमार, संचालक रमेश खत्री, सहशिक्षक सेवादल मुकेश नागौरा ने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए स्थानीय संयोजक शांतिलाल ने कहा कि सच्चे मन में सेवा करना ही व्यक्ति का कर्तव्य है। गुब्बारा किसी भी रंग का हो यदि उसमें गैस है तो वह आसमान में उड़ जाता है। इसी प्रकार इंसानी रूप में व्यक्ति चाहे छोटा हो या बड़ा, अमीर या गरीब हो। सभी इंसानों के अंदर प्रेम भाव होना चाहिए। क्षमा याचना के बाद सत्संग का आयोजन हुआ।

ये भी पढ़े...

संस्थान की बैठक में मंदिर निर्माण पर चर्चा
बाड़मेर . संखलेचा जैन भाईपा संस्थान की बैठक रविवार को आयंबिल शाला में हुई। बैठक में कुलदेवी मंदिर निर्माण को लेकर चर्चा की गई। इस मौके पर बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन व नाकोड़ा ट्रस्टी गजेंद्र संखलेचा का तिलक,साफ ा, माला व श्रीफ ल देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में भावना संखलेचा ने स्वागत गीत की प्रस्तुति दी। गौतम संखलेचा, पवन संखलेचा ने काव्य प्रस्तुति दी। बाबूलाल संखलेचा व संरक्षक जेठमल जैन ने बाड़मेर के विकास में विधायक का सहयोग मांगा। संस्थान अध्यक्ष मांगीलाल संखलेचा ने आभार जताया। बैठक में पारसमल, मेवाराम, मोहनलाल, बाबूलाल, भूरचन्द संखलेचा, दानमल, सम्पतराज, मुरलीधर, हंसराज, गौतमचंद, ओमप्रकाश, घेवरचंद, पिंकी, ऊषा , मंजू आदि मौजूद रहे।
स्वयंसेवकों ने किया किराडू का भ्रमण
बाड़मेर . राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत उच्च माध्यमिक विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों में चयनित स्वयंसेवकों ने गतिविधियों के माध्यम से सर्वांगींण विकास करने के लिए निकटवर्ती ऐतिहासिक एवं पुरातत्व विभाग से जुड़े संस्थानों का रविवार को भ्रमण किया। एमबीसी स्कूल गांधी चौक बाड़मेर के कार्यक्रम अधिकारी मुकेश व्यास ने बताया कि 50 स्वयंसेवकों ने दर्शनीय स्थल कुशल वाटिका व किराडू मंदिर का भ्रमण किया। प्रधानाचार्य मगाराम चौधरी ने बताया कि विद्यार्थियों को ऐतिहासिक धरोहर के इतिहास के बारे में जानकारी दी।

Omprakash Prakash Mali
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned