सुबह से रात तक नो-एन्ट्री, कैसे परिवहन कार्यालय तक पहुंचे भारी वाहन!

सुबह से रात तक नो-एन्ट्री, कैसे परिवहन कार्यालय तक पहुंचे भारी वाहन!
- फिटनेस, पंजीयन के लिए वाहनों को कार्यालय लाना होता है जरूरी

Dileep Kumar Dave | Updated: 20 Dec 2018, 11:58:00 PM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

- फिटनेस, पंजीयन के लिए वाहनों को कार्यालय लाना होता है जरूरी

 



बालोतरा. बालोतरा का जिला परिवहन अधिकारी कार्यालय नए भवन में शिफ्ट हो तो सैकड़ों भारी वाहनों के मालिकों व चालकों के लिए सुलभ होगा, क्योंकि वर्तमान में कार्यालय का संचालन शहर के बीचोंबीच हो रहा है। शहर के भीतर सुबह 8 से रात 8 बजे तक भारी वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित है। ऐसी स्थिति में वाहन मालिक चाहते हुए भी वाहनों को निरीक्षण करवाने के लिए परिवहन कार्यालय तक नहीं ला पाते है या फिर लाते है तो यातायात पुलिस की कार्रवाई के बीच से गुजरना पड़ता है। दरअसल, नए वाहनों के पंजीयन, फिटनेस, बॉडी अल्ट्रेशन जैसे काम करवाने के लिए वाहन को परिवहन कार्यालय में लाना आवश्यक होता है। यहां पर परिवहन निरीक्षक या उपनिरीक्षक वाहन का भौतिक निरीक्षण करता है। इसके बाद वाहन के सही स्थिति में होने पर पंजीयन, फिटनेस होता है। बालोतरा परिवहन कार्यालय में हर दिन करीब 80 से 90 और हर माह करीब 2 हजार भारी वाहन फिटनेस, पंजीयन काम करवाने के लिए आते हैं। यहां पहुंचने के लिए यातायात नियमों को तोडऩा इनकी मजबूरी बन गया है। कई बार तो नो-एन्ट्री में आने पर परिवहन विभाग की टीम ही इन्हें कार्रवाई के लपेटे में लपेट लेती है।
जेरला में कार्यालय शिफ्ट हो तो होगी सहुलियत- शहर में सुबह 8 से रात 8 बजे नो-एन्ट्री लागू है। जोधपुर रोड पर नया बस स्टैण्ड, मूंगड़ा रोड़ पर मूंगड़ा चुंगी नाका, सिवाना रोड पर छतरियों का मोर्चा, बाड़मेर रोड पर गोगाजी का मंदिर से आगे शहर में भारी वाहनों के प्रवेश पर एक साल से अधिक समय से रोक है। ऐसी स्थिति में कार्यालय का समय सुबह 9.30 से शाम 6 बजे तक होने से वाहन चालकों को यहां तक आने में दिक्कत होती है। अगर यह कार्यालय जेरला गांव में नवनिर्मित भवन में स्थानांतरित हो जाए तो हजारों वाहन चालकों को राहत मिल सकेगी।

नो-एन्ट्री में जाना मजबूरी - शहर में सुबह से रात तक नो-एन्ट्री है। ट्रकों को फिटनेस या अन्य काम के लिए परिवहन कार्यालय ले जाना जरूरी होता है। इस पर कई बार यातायात पुलिस नो-एन्ट्री में आने पर कार्रवाई भी करती है। - केहराराम गोदारा, संरक्षक ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन बालोतरा
वाहन कार्यालय जाना जरूरी-फिटनेस, नए वाहन पंजीयन के लिए वाहनों का भौतिक निरीक्षण जरूरी है। इसके लिए वाहनों को कार्यालय लाना होता है। - कैलाश जांगिड़, परिवहन निरीक्षक बालोतरा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned