scriptNow 5800 girl students will reach school by driving a pendle | अब पैदल नहीं पेंडल चला कर स्कूल पहुंचेगी 5800 छात्राएं | Patrika News

अब पैदल नहीं पेंडल चला कर स्कूल पहुंचेगी 5800 छात्राएं

- आर्थिक दृष्टि से पिछड़ी बालिकाओं को मिलेगी निशुल्क साइकिलें, छह से आठवीं की बालिकाएं होंगी लाभान्वित

बाड़मेर

Published: June 26, 2022 10:20:12 pm



बाड़मेर. प्रदेश की 5800 बालिकाएं अब पढ़ने के लिए पैदल नहीं साइकिल पर स्कूल जा पाएंगी। राज्य सरकार की निशुल्क साइकिल वितरण योजना के तहत छठीं से आठवीं तक अध्ययनरत आर्थिक पिछडा वर्ग इडब्ल्यूएस की छात्राओं को लाभ मिलेगा। एक लाख से कम वार्षिक आय वाले परिवार की बालिकाएं लाभान्वित होंगी जिसको लेकर ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं।

अब पैदल नहीं पेंडल चला कर स्कूल पहुंचेगी 5800 छात्राएं
अब पैदल नहीं पेंडल चला कर स्कूल पहुंचेगी 5800 छात्राएं

वित्तीय वर्ष 2022-23 की बजट घोषणा की क्रियान्विति के तहत प्रदेश के सरकारी विद्यालयों में अध्ययनरत छठीं से आठवीं कक्षाएं की ऐसी छात्राएं जो आर्थिक दृष्टि से पिछड़ेवर्ग की श्रेणी में आती है, को निशुल्क साइकिल दी जाएगी। इसको लेकर ऑनलाइन आवेदन होंगे।योजना के क्रियान्वयन का जिम्मा निदेशक माध्यमिक शिक्षा को दिया गया है। प्रदेश में छठीं व सातवीं कक्षा की इडब्ल्यूएस श्रेणी की 1933-1933 छात्राएं जबकि आठवीं में 1934 बालिकाएं योजना से लाभान्वित होंगी। प्रदेश में 5800 बालिकाओं को साइकिलें मिलेंगी।

यह भी पढ़ें

पाक युद्ध की जीत का जाबांज देगा पुलिस जवानों को प्रेरणा |

यह रहेगी पात्रता- निशुल्क साइकिल को लेकर पात्रता रखने वाली बालिकाओं के परिवार की सालाना आय एक लाख से कम होनी चाहिए। ये बालिकाएं राज्य या केन्द्र सरकार की ट्रांसपोर्ट वाउचर योजना या अन्य किसी साइकिल योजना से लाभान्वित नहीं होनी चाहिए। इस आशय का शपथ पत्र भी उन्हें देना होगा। प्रत्येक कक्षा में साठ फीसदी या अधिक अंक वाली बालिकाएं योजना के तहत आवेदन कर सकेंगी। अंतिम स्थान पर अधिक छात्राएं होने पर अनिवार्य हिंदी व अंग्रेजी विषय के अंकों के आधार पर चयन होगा। दोनों विषयों में समान अंक पर जन्म तिथि आधार रहेगा। अधिक आयु वाली को वरीयता दी जाएगी।

आवेदन व चयन प्रक्रिया- आवेदन ऑनलाइन शाला दर्पण के माध्यम से लिए जाएंगे।आवेदन संस्था प्रधान से सत्यापित करवा जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक को ऑनलाइन भेजना होगा। आवेदन के साथ छात्रा का जन आधार कार्ड, शपथ पत्र, आय प्रमाण पत्र, अंक तालिका सलंग्न करनी होगी।

निशुल्क साइकिल वितरण योजना के तहत आर्थिक पिछड़े वर्ग की बालिकाओं को साइकिलें देना अच्छा कदम है।इससे इस वर्ग की गरीब तबके की सैकड़ों बालिकाओं को फायदा मिलेगा। जिले में दूर दराज की ढाणियों से आने वाली बालिकाएं इससे लाभान्वित होगी।-उदयसिह तिलवाड़ा, शिक्षक नेता

यह भी पढ़ें

AGRO ......पानी की बचत ही नहीं किसानों को फायदा भी देगी सूक्ष्म सिंचाई, कैसे पढ़े पूरा समाचार |

आवेदन मांगे गए हैं- आर्थिक दृष्टि से पिछड़े वर्ग की बालिकाओं से साइकिल योजना के तहत आवेदन मांगे गए हैं। समस्त संस्था प्रधान निर्धारित मापदंड रखने वाली बालिकाओं से ऑनलाइन आवेदन करवा कर भिजवान सुनिश्चित करें।- जेतमालसिंह राठौड़, एडीईओ माध्यमिक बाड़मेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.