कोरोना: 10 महीनों में 100000 नमूनों की जांच, 5428 संक्रमित

-बाड़मेर जिले में 1 लाख लोगों की हो चुकी कोरोना जांच
-हर महीने 10 हजार नमूनों का रहा औसत

By: Mahendra Trivedi

Updated: 09 Jan 2021, 07:08 PM IST

बाड़मेर. बाड़मेर जिले में कोरोना महामारी के एक लाख संदिग्धों की जांच हो चुकी है। गत वर्ष अप्रेल से शुरू हुआ दौर जनवरी के पहले सप्ताह में एक लाख तक पहुंच गया। करीब 10 महीनों में एक लाख लोगों के कोरोना नमूनों की जांच हुई है।
महामारी का दौर मार्च के मध्य में ही दिखने लगा था। हालांकि जिले में कोविड का पहला मामला अप्रेल में आया था। इसके बाद जुलाई में संदिग्धों और पॉजिटिव की संख्या लगातार बढ़ती रही। इस दौरान प्रतिदिन 700-800 नमूनों की जांच हुई। इसके बाद नवम्बर से जनवरी में नमूनों की संख्या कुछ कम हुई।
औसत हर महीने रहा 10 हजार
पिछले 10 महीनों में कोरोना महामारी में 1 लाख नमूनों की जांच हुई। देखा जाए तो इसका औसत प्रत्येक महीने में 10000 नमूनों का रहा। पूर्व में नमूने जांच के लिए जोधपुर भेजे जाते थे लेकिन मई से बाड़मेर के मेडिकल कॉलेज में लैब स्थापित होने पर यहां पर ही जांच शुरू हो गई।
जनवरी के पहले सप्ताह में 35 मिले संक्रमित
साल के आखिरी महीने में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी आई और जनवरी में यह और भी धीमा हो गया। जनवरी के पहले सप्ताह में 35 संक्रमित मिले है। प्रतिदिन का औसत 5 मरीज ही रह गया।
कोरोना की ओपीडी भी हो गई कम
राजकीय छात्रावास में चल रही कोरोना ओपीडी में मरीजों की संख्या काफी कम हो गई है। अब यहां पर प्रतिदिन 40-50 मरीज ही नमूनों के लिए पहुंच रहे हैं। जबकि पूर्व में यह संख्या सैकड़ों में होती थी।
84 की हो चुकी है मौत
साल 2020 पूरे होते-होते मौतों का आंकड़ा 80 तक पहुंच गया। दिसम्बर महीने में सबसे ज्यादा 19 लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई। इस महीने में पॉजिटिव तो कम आए, लेकिन मौतों के आंकड़ों ने चिंता बढ़ा दी।
बाड़मेर: आंकड़ों में कोरोना
नूमनों की जांच: 100000
कुल संक्रमित : 5428
डिस्चार्ज : 5248
एक्टिव केस : 96
मौतें : 82
कुल भर्ती: 8
(स्रोत... चिकित्सा विभाग )

Mahendra Trivedi Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned