थार में एक और सामूहिक आत्महत्या, तीन बच्चों को छोड़ दंपती ने टांके में कूद दी जान

थार में एक और सामूहिक आत्महत्या, तीन बच्चों को छोड़ दंपती ने टांके में कूद दी जान

Nidhi Mishra | Updated: 20 Jul 2019, 12:50:10 PM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

थार में सामूहिक आत्महत्याओं के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ताजा मामला बायतु थाना क्षेत्र का है। यहां दंपती ने टांके में कूद कर जान दे दी।

बाड़मेर। जिले में सामूहिक आत्महत्या ( Group suicide case ) करने का सिलसिला थम नहीं रहा है। यहां बायतु थाना क्षेत्र के भीमड़ा सरहद में गुरुवार शाम दंपती ( couple suicide in Barmer ) ने टांके में कूद आत्महत्या कर ली। परिजन ने शव बाहर निकलवाकर शुक्रवार को पुलिस को बिना सूचना दिए अंतिम संस्कार करवा दिया। दूसरे दिन मामला सोशल मीडिया पर वायरल होने पर घटना उजागर हुई।


जानकारी अनुसार एक दंपती ने गुरुवार शाम टांके में कूदकर आत्महत्या की। बताया जा रहा है कि विवाहिता के पीहर पक्ष को बुलाया और ग्रामीणों ने दोनों पक्षों की आपसी सहमति होने पर शव बाहर निकलवा कर अंतिम संस्कार करवा दिया। परिजन ने इस घटनाक्रम की पुलिस को कोई सूचना नहीं दी। मृतक दंपती के 3 संतानें हैं तथा शादी को 8 साल हुए हैं।

 

 

सामूहिक आत्महत्या, पुलिस को पता तक नहीं चला
जिले में सामूहिक आत्महत्याओं पर रोकथाम लगाना तो दूर की बात है। यहां पुलिस को आत्महत्या होने पर पता भी नहीं चल पा रहा है। बायतु क्षेत्र में दपंती के आत्महत्या की जानकारी पुलिस को शुक्रवार तक नहीं लगी। पुलिस तंत्र को इस तरह की वारदातों का पता तक नहीं चलने से कई सवाल पैदा हो रहे हैं।


गौरतलब है कि बाड़मेर जिले में सामूहिक आत्महत्या करने का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। यहां लगातार प्रेम-प्रसंग व अवैध संबंधों के कारण सामूहिक आत्महत्या की वारदातें सामने आ रही है। मामलों ने सामाजिक स्तर पर झकझोर दिया है। 30 दिनों में 7 सामूहिक आत्महत्याओं की घटनाएं हो चुकी है। इसमें 19 लोगों की जान चली गई। इसके अलावा आत्महत्या के दर्जनों मामले हुए है। हालात काफी चिंताजनक हो गए हैं।

 

 

प्रेम-प्रसंग के चलते सामूहिक आत्महत्या

केस 1 - नोख गांव के पास अणखिया सरहद में 14 जुलाई को विवाहिता ने अपने प्रेमी के साथ फंदा लगाकर आत्महत्या।
केस 2 - बालोतरा के पास 9 जुलाई की रात एक युवक-युवती ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। दोनों रिश्ते में भाई-बहन थे।

केस 3 - बीजराड़ थाना क्षेत्र के गौहड़ का तला गांव के पास 28 जून को एक प्रेमी युगल ने पेड़ से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।
केस 4 - चौहटन थाना क्षेत्र के लीलसर में 14 जून को प्रेमी-युगल ने देसी कट्टे से फायर कर दी जान।

केस 5 - चौहटन थाना क्षेत्र के सनाऊ सरहद राणीसर में 3 अप्रेल को प्रेमी-युगल ने खेत में पेड़ पर फंदा लगाकर की आत्महत्या।
केस 6 - चौहटन क्षेत्र के आंटिया सरहद में गत 29 मार्च को टांके में नाबालिग छात्र-छात्रा ने कूद कर दी जान।

केस 7 - धोरीमन्ना थाना क्षेत्र में 12 जनवरी को बाखासर के युवक ने प्रेमिका के गांव राणासर में आत्महत्या कर ली।
केस 8 - गत 9 जनवरी को बालोतरा में युवक-युवती ने ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली।

 


सामूहिक आत्महत्याएं

केस 1- 22 जून बाड़मेर में विवाहिता ने मासूम बालिका के साथ ट्रेन के आगे कूदकर जान दी।
केस 2- 26 जून को बावड़ी कल्ला में विवाहिता ने पांच बेटियों के साथ टांके में कूदकर आत्महत्या कर ली।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned