18 घंटे बिजली गुल, अंधेरे में रही पंचायतें

- पांच ग्राम पंचायतों में पसरा अंधेरा

- लोग होते रहे परेशान, डिस्कॉम अधिकारियों ने नहीं दिया ध्यान

- गर्मी की शुरुआत के साथ व्यवस्था बिगडऩे से ग्रामीण चिंतित

बालोतरा. समदड़ी क्षेत्र की पांच ग्राम पंचायतों के एक दर्जन गांवों में बुधवार पूरी रात अंधेरा छाया रहा। गुरुवार दोपहर में विद्युत की बहाली होने पर परेशान उपभोक्ताओं ने राहत की सांस ली।

विद्युत लाइन फॉल्ट होने पर 18 घंटों से अधिक विद्युत गुल होने से कामकाज को लेकर ग्रामीणों व बोर्डपरीक्षा को लेकर छात्रों को अधिक परेशानी उठानी पड़ी। डिस्कॉम को ग्रामीणों ने कई बार अवगत करवाया, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया।

जानकारी अनुसार 132 केवी. विद्युत स्टेशन अजीत से अजीत व मजल फीडर जुड़े हुए हैं। अजीत विद्युत फीडर से जुड़ी विद्युत लाइन में फॉल्ट आने पर बुधवार शाम इससे जुड़े गांवों में विद्युत गुल हो गई।

विद्युत लाइन फॉल्ट होने से अजीत व मजल विद्युत फीडर से जुड़े करीब एक दर्जन गांवों में पूरी रात अंधेरा छाया रहा। 12 घंटे बाद भी बिजली नहीं लौटने पर इनवेटर ने भी जबाब दे दिया। गर्मी पर लोग परेशान नजर आए। 18 घंटे से अधिक समय बाद दोपहर करीब 1.45 बजे विद्युत की फिर हुई बहाली पर लोगों ने राहत की सांस ली।

अंधेरे में डूबी रही पांच ग्राम पंचायतें- विद्युत लाइन में आए फॉल्ट पर डिस्कॉम अधिकारियों ने इसे जल्दी सही कर विद्युत बहाली में करने में रूचि नहीं ली। इस पर ग्राम पंचायत अजीत, भलरों का बाड़ा, खेजडिय़ाली, मजल, ढीढ़स व इनके करीब एक दर्जन गांवों में पूरे रात विद्युत गुल रही।

परेशान ग्रामीणों ने डिस्कॉम अधिकारियों से सम्पर्क किया, लेकिन इन्होंने फोन रिसीव कर जबाब देना तक उचित नहीं समझा।

व्यू-

बगैर आंधी-तूफान के आए विद्युत लाइन फॉल्ट होने व पूरी रात, आधे दिन तक विद्युत गायब रहने से राहत को तरस गए। डिस्कॉम अधिकारी, कर्मचारी सही जबाब नहीं देते। इससे काम प्रभावित होने के साथ परेशानियां उठानी पड़ी।

- लक्ष्मणराम दर्जी ग्रामीण

गर्मी के साथ ही विद्युत की कटौती व कई घंटे तक बहाली नहीं होने से आमजन व छात्रों को अधिक परेशानी उठानी पड़ती है। डिस्कॉम अधिकारी आमजन की समस्याओं के समाधान को लेकर गंभीर नहीं है।

- भंवरी देवी दवे

भूमिगत लाइन में फॉल्ट आने से विद्युत आपूर्ति बाधित हुई थी। भूमिगत लाइन में फॉल्ट ढूंढने में समय अधिक लग गया, जिससे परेशानी हुई। अब वैकल्पिक तौर पर व्यवस्था की गई। फॉल्ट को सही करने के प्रयास किए जा रहे है।

- रामावतार मीणा, सहायक अभियंता समदड़ी

Show More
Moola Ram Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned