बाड़मेर. चौहटन में जाट समाज के निर्णय के बाद अब पावड़ों का तला के जाट समाज के पावड़, खदाव, डूडी, बैरड़, सारण, सियोल गौत्र के परिवारों के प्रबुद्धजनों ने एक स्वर में सर्वसम्मति से सामाजिक कार्यक्रमों में नशे (जर्दा, बीड़ी, डोडा-पोस्त, अफीम) पर पूर्ण रूप पाबंदी लगाने का प्रण लिया।
गत दिनों चौहटन में जाट समाज द्वारा लिए गए निर्णयों से प्रेरित होकर पावड़ों का तला धनाऊ के जाट समाज की बैठक मंगलवार को आयोजित हुई।

इसमें नशे से स्वास्थ्य पर पडऩे वाले प्रभाव एवं इनके दुष्परिणाम की चर्चा करके पूर्ण नशामुक्ति, सामाजिक सुधार, मर्यादित सामाजिक संस्कृति, नशे पर अंकुश लगाने जैसे निर्णय लिए।
फगलु राम पावड़ ने बताया कि पावड़ गौत्र के किसी भी सामाजिक कार्य, व्यक्तिगत रूप से घरेलू कार्य में कोई भी व्यक्ति नशे की मनुहार एवं उपभोग नही करेगा।

एक स्वर में सभी परिवारों ने लिया निर्णय
पावड़ों का तला, धनाऊ में 100 परिवार निवास करते हैं। पावड़ों का तला में आयोजित बैठक में इन परिवारों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इस अवसर पर नशा मुक्ति युवा जागृति मंच का गठन भी किया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned