सूचना पट्ट खोल रहा पोल, गौरव पथ निर्माण में पोलमपोल?

गौरव पथ के लिए 58 लाख स्वीकृत, फिर भी शुरू नहीं किया कार्य

By: Dilip dave

Published: 13 Mar 2018, 12:02 AM IST

 

-

- जून 2018 में पूरा करना है काम
बालोतरा. सूचना पट्ट पर सूचना लिखकर सरकारी कार्य कैसे पोलमपोल चलाए जाते हैं,्र इसका उदाहरण जसोल के गौरव पथ निर्माण को लेकर देखा जा सकता है। सार्वजनिक निर्माण विभाग ने यहां बोर्ड लगा लिख दिया कि कार्य अक्टूबर 17 में शुरू होकर जून 18 में पूर्ण होना है, लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि अभी तक काम शुरू ही नहीं हुआ है। खात बात यह है कि इसके निर्माण को लेकर 57 लाख से अधिक रुपए की स्वीकृति भी हो चुकी थी, लेकिन एेसा लगता है शायद विभाग गौरव पथ को भूल ही गया है।

प्रदेश सरकार ने औद्योगिक कस्बा जसोल में तीन माह से अधिक समय पूर्व गौरव पथ निर्माण की स्वीकृति जारी की थी। सड़क निर्माण के लिए 57.56 लाख रुपए स्वीकृत किए। इसके तहत गांव के मुख्य बाजार से आयुर्वेदिक चिकित्सालय तक एक किलोमीटर दूरी में मार्ग निर्माण किया जाना प्रस्तावित है। इसके निर्माण में कार्य की गुणवत्ता को लेकर ठेकेदार ने सार्वजनिक स्थान पर सूचना पट्ट लगाया। इस पर लोगों ने शीघ्र कार्य शुरू होने की उम्मीद संजोई, लेकिन आज दिन तक निर्माण कार्य शुरू तक नहीं किया गया है,जबकि सूचना पट्ट के अनुसार 26 अक्टूबर 2017 को कार्य शुरू करना था । 26 जून 2018 तक कार्य पूर्ण होना प्रस्तावित है।
खस्ता है सड़कें- औद्योगिक कस्बे जसोल के मार्गों की हालत अच्छी नहीं है। गांव के मुख्य आवागमन का मार्ग खस्ताहाल है। इसमें जगह-जगह गड्ढ़े होने पर राहगीर, वाहन चालक हर दिन परेशानी उठाते हंै। रात्रि के अंधेरे में गड्ढे़ नहीं दिखाई देने पर राहगीर व वाहन चालक गिरते हैं। इस पर कस्बेवासी लंबे समय से मार्ग निर्माण की मांग कर रहे हंै। ग्राम पंचायत की सीमित आय पर सड़कों का निर्माण करवाना पंचायत प्रशासन के लिए डेढ़ी खीर बना हुआ है।

मुख्य सड़क की खस्ताहाल- गांव की प्रमुख सड़क खस्ताहाल है। हर दिन परेशानी उठाते हंै। कार्य स्वीकृत के बावजूद निर्माण शुरू नहीं करना गलत है। शीघ्र कार्य शुरू करें। - महेन्द्र कोठारी
दिक्कत हो रही- जसोल बड़ा कस्बा है। यहां हजारों जने रहते हैं। कार्य स्वीकृत होने के बावजूद सड़क निर्माण नहीं करने से दिक्कत उठानी पड़ती है। - मनोहर जोगसन

जल्दी शुरू हो निर्माण कार्य- पहले तो समय पर स्वीकृति जारी नहीं करना। स्वीकृत बाद महिनों तक कार्य शुरू नहीं करना गलत है। जनहित में विभाग शीघ्र कार्य शुरू करवाएं। - ईश्वरसिंह चौहान, पूर्व सरपंच

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned