बाड़मेर. राष्ट्रीय गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति और भारती विकास परिषद शाखा बाड़मेर के तत्वावधान में गर्भपात एक निरपराध जीवित शिशु की हत्या विषयक सेमिनार का आयोजन जिला मुख्यालय पर सोमवार को हुआ। सेमिनार को संबोधित करते राष्ट्रीय गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवारी ने कहा कि गर्भपात एक महापाप है।

ऐसा पाप करने वालों को जीवन-मरण से कभी मुक्ति नहीं मिलती। किसी भी परिवार में भू्रण हत्या होती है, उसको रोकने की हम सबकी जिम्मेदारी है। बेटियों का संरक्षण बेहद आवश्यक है। साध्वी सत्यसिद्धा ने कहा कि कन्या वध का पाप मातृशक्ति का अपमान है।

उन्होंने कहा कि देश में दीदी मां साध्वी ऋतम्भरा ने बेटियों को बचाने का संकल्प लिया है। मथुरा के वात्सल्य ग्राम में हजारों बेटियों का पालन-पोषण हो रहा है। भारत विकास परिषद के अध्यक्ष ताराचंद जाटोल ने कहा कि बेटियों का सम्मान ही देश की आन-बान शान है। शक्ति पीठ के कोषाध्यक्ष इन्द्रप्रकाश पुरोहित ने कहा कि कोख में ही बेटियों को मार देने का कार्य घृणित है। ऐसे पाप से मुक्ति पाना असंभव है।

वात्सल्य सेवा केन्द्र के अध्यक्ष ओमप्रकाश मेहता व किशोर शर्मा का बेटी बचाओ, बेटी पढाओं की जागरूकता पर दुपट्टा ओढाकर बहुमान किया गया। सुशीला मेहता, वंदना तापडिय़ा, दुर्गा तिवारी, शोभा मूंदड़ा, चेतना मारवल, महिला मंडल अध्यक्षा चम्पा तापडिय़ा, छगनलाल खत्री, धनराज व्यास आदि उपस्थित रहे।

लोक गायक सारण का हुआ सम्मान

बाड़मेर. अजमेर जिले के किशनगढ़,सावतसर में वीर तेजाजी महाराज की 948 वीं जयंती पर आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय तेजा दर्शन महोत्सव में बाङमेर केलोक गायक रमेश सारण को सम्मानित किया गया। उनको कला व संगीत के माध्यम से राजस्थान की अनुपम संस्कृति को नई पहचान देने पर सम्मानित किया गया।

सारण ने बताया कि समाज सुधारक गीत, भजन गाए जिनमें मृत्यु भोज बंद कर दो, बालविवाह रोको, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ-बेटी बढाओ, देश के लिए शहीद वीरों की वीर गाथाएं, सरकारी स्कूल चालो गीत आदि प्रमुख है। तेजा दर्शन महोत्सव में जसनाथ आश्रम के संत जोगनाथ व वीर तेजाजी महाराज कथा वाचक सूरज बाईसा व साधु संतों के सानिध्य में सारण को सम्मानित किया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned