बाड़मेर. श्मशान विकास समिति एवं संत रविदास संस्थान के तत्वाधान में मोक्षधाम परिसर स्थित संत रविदास उद्यान में संत रविदास की प्रतिमा का अनावरण शनिवार को हुआ। श्मशान विकास समिति संयोजक भैरूसिंह फुलवारिया ने बताया कि राजू महाराज मथुरा के सानिध्य में संतों ने संत रैदास के भजनों एवं महिला मंडल ने गीतों की प्रस्तुतियां दी। हथिनी ने संत रविदास की प्रतिमा पर पुष्प बरसाए। नगर परिषद सभापति दिलीप माली, श्मशान विकास समिति मुख्य व्यवस्थापक मामा भवानीसिंह शेखावत, श्मशान विकास समिति संयोजक भैरूसिंह फुलवारिया, भामाशाह बाबूलाल मोसलपुरिया सहित अतिथियों की उपस्थिति में मूर्ति का अनवारण किया गया।

मुख्य अतिथि विधायक मेवाराम जैन के विधानसभा में बजट बैठक में व्यस्त होने के कारण उनके संदेश का वाचन किया गया। जैन ने अपने संदेश में कहा कि शिरोमणि संत रविदास ने भारतीय संस्कृति को पुनर्जीवित करने का एक अनुपम कार्य किया है।

उनका पवित्र जीवन और महान संदेश उनके निर्वाण के लगभग 643 वर्ष बीत जाने पर भी आज समाज को उसी प्रकार नवीन भक्ति एवं प्रेरणा देने वाला है। दिलीप माली ने कहा कि मानव समानता की सोच के प्रेणता थे संत रैदास। उन्होंने ऊंच-नीच, जाति-विजाति आदि भेदभाव मिटा कर मानव समानता का संदेश दिया, जो वर्तमान में सार्थक है।

भैरूसिंह फुलवारिया ने कहा कि आज के समय में संत रैदास का जीवन भक्ति के साथ-साथ अपने धर्म पर अडिग रहकर भी कुरतियों पर प्रहार करने का संदेश देता है। भवानी सिंह शेखावत ने धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन हरीश जांगिड़ ने किया।

संत नवलदास, छगनलाल जाटोल, श्रवन चंदेल, भील समाज जिलाध्यक्ष भूराराम भील, भीम आर्मी संरक्षक अमित कुमार धंनदे, भंवरलाल खोरवाल ,ईश्वरचंद नवल,तुलसीदास पवार जोधपुर, भंवरलाल जैलिया, श्यामलाल सुवासिया, दीपा मोसलपुरिया, मंजू देवी फुलवारिया, बसंती देवी जाटोल , पार्षद भीमराज खोरवाल, भीमाराम जसोड़, मोहनलाल गोसाई, नरसिंगाराम नवल, निंबाराम बाकोलिया, ईश्वरदास बाकोलिया आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned