सैकण्ड ग्रेडबन गए फस्र्टग्रेड ,पढ़ाई की हो गई थर्ड क्लास पढि़ए पूरा समाचार

Dilip dave

Publish: Jan, 13 2018 05:30:07 (IST)

Barmer, Rajasthan, India
सैकण्ड ग्रेडबन गए फस्र्टग्रेड ,पढ़ाई की हो गई थर्ड क्लास पढि़ए पूरा समाचार

- 70 द्वितीय श्रेणी शिक्षकों को लगा दिया व्याख्याता, विद्यार्थियों की पढ़ाई चौपट

 

बाडमेर. स्कूलों से जब व्याख्याताओं की मांग उठी तो सरकार ने अपनी बला टालने के लिए एक हास्यास्पद आदेश जारी कर दिया। जहां व्याख्याता का पद खाली था, वहां अधिशेष द्वितीय श्रेणी अध्यापकों को लगा दिया। इसका असर यह हुआ कि अब सरकारी मापदंडानुसार तय योग्यताधारी व्यक्ति हजारों अभ्यर्थियों को पढ़ा रहे हैं, वहींं शाला दर्शन पोर्टल पर पद रिक्त नहीं बताने से व्याख्याता मिलने भी अड़चन आ रही है।
प्रदेश के सरकारी विद्यालयों में शिक्षा का स्तर सुधारने की कवायद के बीच खुद सरकार एेसे आदेश दे रही है जो शिक्षा को गर्त की ओर ले जा रही है। प्राथमिक शिक्षा से हजारों की तादाद में शिक्षकों को माध्यमिक शिक्षा में भेजा। इसके चलते द्वितीय श्रेणी के सैकड़ों शिक्षक माध्यमिक शिक्षा में आ गए। इन शिक्षकों में से काफी अधिशेष हो गए, इनको कहां लगाए यह चिंता विभाग की थी। जब विभाग ने सरकार से मार्गदर्शन मांगा तो कहा कि इनको जिन विद्यालयों में व्याख्याता नहीं है, वहां पद के विरुद्ध लगा दें। इस आदेश के चलते जिले में 70 द्वितीय श्रेणी शिक्षक समायोजित कर व्याख्याता के विरुद्ध लग गए। शिक्षा सत्र शुरू होने पर यह आदेश आया था। इसके बाद से ये शिक्षक व्याख्याता बन कई विद्यालयों में पढ़ा रहे हैं। इसके चलते इन विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थी और उनके परिजन इस चिंता में की कहीं, उनका ग्रेड न बिगड़ जाए।

बन गए अधिकारी- जो द्वितीय श्रेणी शिक्षक व्याख्याता पद पर कार्यरत है, वे राजपत्रित अधिकारी बन गए हैं। इसके चलते अब वे छोटी कक्षाओं में पढ़ाने को भी आना-कानी कर रहे हैं। इसके चलते कई स्कूलों में नवीं-दसवीं की कक्षाओं में पढ़ाने के लिए भी परेशानी आ रही है।
परिणाम प्रभवित होने की चिंता- व्याख्याता के पद के विरुद्ध लगे वरिष्ठ शिक्षक सामाजिक विज्ञान विषय के हैं, जिनको कई जगह वाणिज्य संकाय व्याख्याता लगा कर पढ़ाने का जिम्मा सौंप दिया है। इस विषय में विशेषज्ञ नहीं होने से वे सहीं ढुंग से पढ़ा नहीं पा रहे है, जिसके चलते शिक्षार्थियों को परिणाम प्रभावित होने की चिंता सता रही है।

सरकारी आदेश- व्याख्याता पद के विरुद्ध जो द्वितीय श्रेणी शिक्षक लगे हुए हैं, वे सरकार के आदेशानुसार है।- ओमप्रकाश शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा बाड़मेर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned