मालानी के कर्मवीर बनारस में दे रहे सेवाएं

बाड़मेर मूल के नर्सिंग अधिकारी व कार्मिकों ने संभाली व्यवस्थाएं

By: Moola Ram

Updated: 18 Apr 2020, 02:36 AM IST

बाड़मेर. विश्व में कोरोना को हराने लिए कई योद्धा अपनी जिंदगी को दांव पर लगाकर देश सेवा में लगे हैं। इनमें राजस्थान के कई कर्मवीर धर्मनगरी काशी में सुंदरलाल अस्पताल बनारस हिंदू विश्वविद्यालय यूपी के आईसीयू वार्ड में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

इसमें बाड़मेर जिले के रहने वाले नर्सिंग ऑफिसर हनुमान भादू नोसर, श्रवण गोदारा सिणधरी, खंगाराराम सिणधरी ,हरीराम जानी बाटाडू एवं सुरेश कुमार विश्नोई सेड़वा शामिल है।

कोरोना के कर्मवीर अपनी जिंदगी की परवाह किए बगैर कोराना संक्रमित रोगियों की सेवा सुंदरलाल अस्पताल में दे रहे हैं। हालांकि कोरोना के मरीजों के इलाज के चलते इनकी दिनचर्या अवश्य बदल गई है साथ ही परिवार से दूर रहने के भी निर्देश दिए गए हैं।

यहां कर्मचारियों के स्वास्थ्य का भी पूरा ध्यान रखा जा रहा है कुछ समय के लिए इन्हें होम होम क्वॉरेंटाइन में रहने के भी निर्देश दिए गए हैं। इन दिनों वीडियों कॉल से परिवार से बात करने का एकमात्र सहारा हैं। इन कोरोना कर्म वीरों के पास बचा है सभी जुनून के साथ कोरोना मरीजों के इलाज में लगे हैं।
’हनुमान भादु’
जीवन में कभी सोचा नहीं था कि ऐसे दिन आएंगे । माता पिता,पत्नी व बच्चे से दूर हैं। लेकिन पिछले 4 महीनों से घर नहीं गया हूं।

बच्ची 2 साल की छोटी है लेकिन देश सेवा ने सभी इच्छाओं को दमन कर दिया कोरोना मरीज के उपचार में शामिल होने के चलते होटल में ही रहकर खुश हूं । आज मुझे लग रहा है कि मैं भी एक सैनिक की भूमिका निभा रहा हूं।

Moola Ram
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned