एकल आरक्षित खिड़की, यात्री ज्यादा, परेशानी

एकल आरक्षित खिड़की, यात्री ज्यादा, परेशानी

Dilip dave | Publish: May, 17 2018 07:24:12 PM (IST) Barmer, Rajasthan, India

घंटों इंतजार के बाद आता नम्बर, लाइन में लगना मजबूरी

 

-


बालोतरा.

नगर के रेलवे स्टेशन पर एक मात्र आरक्षण टिकट खिड़की नाकाफी साबित हो रही है। आरक्षित टिकट बनाने को लेकर हर दिन यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ती है। लंबे समय से नई आरक्षण टिकट की खिड़की खोलने की जरूरत महसूस करने के बावजूद अब तक इसका इंतजार ही है।
जोधपुर-बाड़मेर रेलमार्ग के बड़े रेल स्टेशनों में रेलवे स्टेशन बालोतरा एक है। हर दिन सैकड़ों यात्री आवाजाही करते हैं। इसके बावजूद रेलवे ने रेलवे स्टेशन बालोतरा पर एकमात्र रेल आरक्षित टिकट खिड़की खोल रखी है। इस पर आरक्षित टिकट बनाने को लेकर हर दिन यात्रियों को बड़ी परेशानी उठानी पड़ती है। एक अनुमान के तौर पर रेलवे स्टेशन बालोतरा से प्रतिदिन 100 से 120 से अधिक आरक्षित टिकट बनते हैं। ऐसे में एकमात्र आरक्षित टिकट खिड़की के खुलने से बंद होने तक यहां लाइन लगी रहती है। टिकट बनाने को लेकर यात्री के रेलगाड़ी नंबर, सीट, बर्थ स्थिति, एक से दूसरी रेलगाड़ी के मिलान आदि की जानकारी बुकिंग क्लर्क से जानने पर एक टिकट बनने में पांच से आठ मिनट का समय लगता है। ऐसे में लाइन मेंं लगे लोगों को अधिक समय तक खड़ा रहकर बारी आने का इंतजार करना पड़ता है।

दूसरी खिड़की जरूरी, मिलेगी अच्छी सुविधा- बालोतरा की आबादी 85 हजार से अधिक हैं। जसोल,पचपदरा, पाटोदी जैसे बड़े कस्बे व दर्जनों गांव इससे जुड़े हुए हैं। कार्यालय, रोजगार , पारिवारिक, धार्मिक आदि कार्यों तो त्योहार, विवाह आयोजनों में शामिल होने को लेकर बड़ी संख्या में शहर व क्षेत्र के लोगों का अन्य शहरों व प्रदेशों के लिए आना-जाना रहता है। इस पर आरक्षित टिकिट खिड़की खुलने के साथ ही यहां कतार लगनी शुरू होती है। इस पर लंबे समय से रेलवे स्टेशन बालोतरा पर दूसरी आरक्षित टिकट खिड़की की जरूरत महसूस की जा रही है। लोग कई बार रेल उच्चाधिकारियों से मांग भी कर चुके हैं, लेकिन अभी तक सुनवाई नहीं हुई है।

जनता की जुबानी
बालोतरा बड़ा रेलवे स्टेशन है। बड़ी संख्या में आरक्षित टिकट पर लोग यात्रा करते हैं। इस पर एकमात्र आरक्षित टिकट खिड़की होने पर हर बार परेशानी उठानी पड़ती है।

महेेन्द्र माचरा

बालोतरा में आरक्षित टिकट खिड़की खुलने के साथ ही लंबी लाइन लग जाती है। खिड़की तक पहुंचने पर कई बार वेटिंग टिकिट तक नहीं मिलती है। रेलवे दूसरी आरक्षित टिकट खिड़की खोलें। चतराराम चौधरी

17के.बालोतरा में रेलवे आरक्षित टिकट खिड़की पर लगी भीड़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned