बाड़मेर में आक्रोश की चिंगारी, पुलिस से बेटियों का सवाल, क्या हम सुरक्षित?

bhawani singh

Publish: Sep, 17 2017 12:35:35 (IST)

Barmer, Rajasthan, India
बाड़मेर में आक्रोश की चिंगारी, पुलिस से बेटियों का सवाल, क्या हम सुरक्षित?

- पुलिस जवानों से सवाल- क्या हम सुरक्षित, नहीं बोल पाए जवान

पुलिस से बेटियों का सवाल...क्या हम सुरक्षित? जवाब नहीं दे पाए जवान

- शहर में जगह-जगह प्रदर्शन
बाड़मेर। यहां एक छह वर्षीय बालिका के साथ छेड़छाड़ और उसे न्याय दिलाने के मामले में शहर का यूथ शनिवार को सड़कों पर उतरा। पहले कलक्टर के आवास के सामने प्रदर्शन किया। बाद में यहां आदर्श स्टेडियम में विरोध जताया गया। विरोध प्रदर्शन के दौरान बेटियों ने वहां उपस्थित पुलिस के जवानों पर ही सवाल दागा कि क्या हम सुरक्षित हैं? पुलिस जवान एक दूसरे का मुंह देखते रहे, कोई भी जवाब नहीं दे पाया। गुडिया को न्याय मिले, क्या हम वाकई में स्कूल में सुरक्षित हैं? हम स्कूल के विरोध में नहीं, दुष्कर्म के विरोध में हैं लिखे बैनर व पोस्टर लेकर छात्राओं ने प्रदर्शन किया। सुरक्षा व इस तरह की घटनाओं की पुनरावर्ती रोकने के लिए जोशीले नारे भी लगाए।

 

बोलीं छात्राएं- जांच से संतुष्ट नहीं
मासूम के साथ यौन उत्पीडऩ के विरोध में शहर की छात्राएं कलक्ट्रेट पहुंची और प्रदर्शन किया। छात्राओं के अनुसार पुलिस जांच सही दिशा में नहीं है। आक्रोशित छात्राएं बोलीं एक तरफ बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने व सुरक्षा की बातें हो रही है और दूसरी तरफ यहां असुरक्षा के माहौल में बेटियां जी रही है।

 

एबीवीपी का विरोध, कलक्टर से कहा-आकर लो ज्ञापन
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने भी मासूम को न्याय दिलाने के लिए प्रदर्शन किया। सभी कार्यकर्ता यहां जिला कलक्टर आवास के बाहर एकत्रित हुए। इस दरम्यिान गार्ड ने संदेश दिया कि कलक्टर कार्यालय आकर ज्ञापन लेंगे, लेकिन कार्यकर्ता कलक्टर को वहीं बुलाने की मांग पर अड़ गए। फिर कलक्टर ने प्रतिनिधिमंडल को अंदर बुलाया और ज्ञापन लिया।

 
शिक्षा से पहले सुरक्षा जरूरी

छात्राओं ने स्टेडियम में सभी स्कूलों में सुरक्षा प्रबंध को लेकर चर्चा की। इसमें कई बातें निकलकर सामने आई। जैसे शहर की कई ऐसी स्कूलें हैं, जहां सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। निजी स्कूलों के कर्मचारियों का पुलिस सत्यापन नहीं होता है। उन्होंने कहा कि हम सभी को जागरूक होना होगा। इस तरह के असुरक्षा के माहौल में शिक्षा तो दूर की बात है, पहले सुरक्षा होनी जरूरी है।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned