बालोतरा.
शहर में चुनरियों पर सलमा- सितारे जडऩे वाली महिलाओं का काम देखकर दाद तो खूब मिलती है लेकिन इनकी मेहनत को दाम उतने नहीं मिलते। स्वयं सहायता समूह और अन्य प्रबंध से इस उद्योग को सरकारी संरक्षण की दरकार है।

क्या बोली महिलाएं

सरकार उद्योग को दें बढ़ावा - दो-तीन घंटे काम करने पर सप्ताह भर में एक साड़ी,चुंदड़ी तैयार होती है। लेकिन एक दिन जितनी भी दिहाड़ी नहीं मिलती है। सरकार उद्योग को बढ़ावा व संरक्षण देने का कार्य करें। - गीता देवी

कड़ी मेहनत के बावजूद मेहनताना कम- सलमा-सितारा पारम्परिक उद्योग से सैकड़ों महिलाएं जुड़ी हुई हैं। सभी महिलाएं अधिकांश अशिक्षित व असंगठित है। इस पर कड़ी मेहनत के बावजूद इन्हें पूरा मेहनताना नहीं मिलता है। सरकार प्रशिक्षण व आसान ऋण दें। सरकारी खरीद केन्द्र खोलें। - रेखा देवी

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned