scriptThe one who was sleeping hungry in Barmer is the son of a laborer from | बाड़मेर में जो भूखा सो रहा था...वह बांसवाड़ा के मजदूर का है बेटा | Patrika News

बाड़मेर में जो भूखा सो रहा था...वह बांसवाड़ा के मजदूर का है बेटा

- किशोर संप्रेषण गृह में भेजा
- परिजनों को सुपुर्द करेंगे और मामला होगा दर्ज

बाड़मेर

Published: May 01, 2022 11:35:50 am


बाड़मेर .
मजदूर के बेटों को आज भी मजदूरी के लिए मारे-मारे फिरना पड़ता है और मार भी खानी पड़ जाती है। जब भूख और मार से त्रस्त हों तो फिर इनको भूखा सोकर आंसू पीने की नौबत भी आती है और कोई भला आदमी मदद कर दे तो घर तक पहुंच जाते है वरना इनकी ङ्क्षजदगी पता नहीं कौनसी दिशा में जाती है। मजदूरी के लिए पलायन की पीड़ा आज भी कई घरों के चिराग को पेट की आग बुझाने के लिए भटकने को मजबूर कर रही है।
बाड़मेर में जो भूखा सो रहा था...वह बांसवाड़ा के मजदूर का है बेटा
बाड़मेर में जो भूखा सो रहा था...वह बांसवाड़ा के मजदूर का है बेटा

बाड़मेर शहर के रेलवे स्टेशन पर एक किशोर शुक्रवार की रात को यहां लगे एक टैंट में एक ओर सोया हुआ था। उसकी हालत देखकर लग रहा था कि उसको रोटी और आश्रय दोनों की जरूरत है। इस पर चाइल्ड हैल्पलाइन नंबर 1098 पर कॉल किया, जहां से उसको किशोर संप्रेषण गृह में भेजा गया है और परिवार की जानकारी ली जा रही है।

बांसवाड़ा
रेलवे स्टेशन पर मिले इस बेटे की जानकारी पत्रिका को मिलने पर पत्रिका की बांसवाड़ा टीम ने पता किया तो मालूम चला कि परिवार की आर्थिक स्थिति सहीं नही होने से बालक करीब डेढ़ माह पहले घर से रोजगार के लिए निकला था। बालक दसवीं पास है । परिजन स्कूल के लिए भेजते तो वह वापस चला आता। लगातार परिजन स्कूल के लिए प्रयासरत थे। इसी बीच बालक करीब डेढ़ माह पहले राजू नाम के व्यक्ति के साथ रोजगार के लिए गाव से निकल गया था।। सरपंच रमेश बरगोट ने बताया कि पिता चालक का काम करते है। परिजन इस भरोसे है कि बेटा मजदूरी पर गया हुआ है।

मामला दर्ज करवाएंगे
बालश्रम अपराध का मामला है। इसमें बालश्रमिक को मजदूरी करवाने वाले के खिलाफ मामला दर्ज करवाएंगे और परिजनों का पता लगते ही किशोर को सुपुर्द कर दिया जाएगा। आज पता चला तो आज ही सुपुर्द कर सकते है।- चेतनाराम सारण, अध्यक्ष बाल कल्याण समिति

रेलवे स्टेशन पर किशोर के होने की जानकारी मिली। उसने बताया कि मजदूरी पर सिणधरी गया था, जहां मारा पीटा गया। किशोर को पहले खाना खिलाया और इसके बाद इसको किशोर संप्रेषण गृह को सुपुर्द किया गया है।
महेश पनपालिया, धारा संस्थान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.