बाड़मेर. बाड़मेर जिले के चौहटन में शनिवार को कोरोना की एंट्री के बाद रविवार को प्रशासन, पुलिस व चिकित्सा विभाग पूरी तरह सतर्क हो गया। कस्बे के प्रभावित गली मोहल्लों को बेरिकेड्स लगाकर सील किया गया है। कस्बे के विभिन्न इलाकों में कफ्र्यू व जीरो मोबिलिटी की पालना को लेकर कड़ी निगरानी की जा रही है। वहीं कस्बे के बाजार को दो दिन के लिए बन्द रखने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि कायदों और नियमों के बावजूद संसाधनों के अभाव में प्रभावी कार्यवाही संभव नहीं हो पा रही है, कोरोना वायरस जैसे गंभीर मामले में पॉजिटिव केस मिलने के बावजूद यहां नजदीकी इलाके के गली मोहल्लों में सेनेटाइजेसन का छिडक़ाव भी नहीं किया गया, वहीं कॉम्पेक्ट मोहल्लों में भी स्क्रीनिंग की गति बेहद धीमी है। बताया जा रहा है कि टिड्डी नियंत्रण में स्प्रे मशीने व्यस्त होने के कारण यहां छिडक़ाव नहीं हो पाया है। पॉजिटिव केस सामने आने के बाद अब यहां संक्रमण के खतरे को कैसे नियंत्रित किया जाएगा यह कस्बेवासियों के लिए चिंता का विषय बनता जा रहा है।
निगरानी जारी प्रशासन अलर्ट पर-पॉजिटिव केस मिलने के बाद तीनों विभाग अलर्ट मोड पर है, कस्बे के अलग अलग मोहल्लों सहित तीन गांवों में जीरो मोबिलिटी के आदेशों की सख्ती से पालना को प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों द्वारा सख्त निगरानी की जा रही है। एसडीएम वीरमाराम, डिप्टी अजीतसिंह, नायाब तहसीलदार सवाईसिंह, बीसीएमओ डॉ. रामजीवन विश्नोई एवं सीआई प्रेमाराम अलग-अलग टीम के साथ दिनभर निगरानी पर रहे।
16 लोगों को किया संस्थागत क्वारेंटीन- कस्बे में मिले तीनों पॉजिटिव लोगों के संपर्क में आए उनके परिवार के सदस्यों को संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर में भेजा गया है। वहीं कॉन्टेक्ट हिस्ट्री के अनुसार संपर्क में आए कुछ रिश्तेदारों व मित्रों सहित सोलह को संस्थागत क्वारेंटाइन किया गया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned