एकता की भावना ही शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि

जरूरत व गरीब लोगों की मदद को लेकर कार्यक्रम

By: Dilip dave

Published: 12 Nov 2017, 10:49 PM IST

 

 

बाड़मेर
शहीदों की शहादत को देश कभी नहीं भूला सकता। उनको सच्ची श्रद्धांजलि तभी होगी जब हम देश में भाईचारा व एकता को बनाए रखें। यह बात युवा उद्यमी आजादसिंह राठौड़ ने डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम ग्रामीण विकास एंव शैक्षणिक संस्थान की ओर से आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पद से कही। कांग्रेस नेता गफूर अहमद ने कहा कि इस तरह की भावना से देशभक्ति की भावना का संचार होता है। ङ्क्षसधी इतिहासकार हाजीखान राजड़ ने आजादी के बाद मुस्लिम समाज में तरक्की को लेकर जानकारी दी। अति विशिष्ट अतिथि शमाखान ने कहा कि बिना स्वार्थ के किए गए कार्य को लोग याद रखते हैं। असरफ अली ने बताया कि इस अवसर पर शिवनगर स्थित कच्ची बस्ती में नेकी की दीवार का उद्घाटन किया गया। इसमें जरूरतमंद व गरीब लोगों की मदद की जाएगी। मुस्लिम इं्रतजामिया कमेटी के सदर हाजी अब्दुल गनीखां, अबरार मोहम्मद, कांग्रेस खेलकूद प्रकोष्ठ अध्यक्ष हिलाल शमा, एम आर गढ़वीर, रहमानखान गजू, बशीर धारेजा, सिक्काखां खलीफा, ढोला फकीर, लक्ष्मण गोदारा, बांकाराम गोदारा आदि उपस्थित थे। संचालन दिलदारखान तथा संस्थान सचिव अहमदअली राजड़ ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

अनोखी पहल- डॉ.कमाल संस्थान ने अनोखी योजना शुरू की है। संस्थान के अशरफ अली ने बताया कि संस्थान लोगों से गरीब तबके लिए सामान, कपड़े सहित अन्य आवश्यक जरूरत की चीजों को लेकर प्रयास करेगी। लोगों से मिलने वाली मदद को वे गरीब तबके में बांट देंगे। साथ ही शिक्षा व संस्कार को लेकर भी विशेष प्रयास करेंगे।
आजाद सिंह ने दिया सहयोग का आश्वासन- युवा उद्यमी और समाजसेवी आजादसिंह ने कहा कि जरूरतमंदों की मदद करना सराहनीय प्रयास है। इसमें जो भी सहायता की जरूरत होगी, उसे करने का प्रयास किया जाएगा। शमा बानो, गफूर अहमद ने कहा कि गरीब को जरूरत की सामग्री के साथ उनके साथ सहानुभूतिपूर्वक व्यवहार भी जरूरी है। संस्थान का यह प्रयास न केवल उन लोगों को संबल देना, इससे अन्य लोगों को भी समाज सेवा की प्रेरणा मिलेगी।

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned