बरसों से वीरान है बाड़मेर का यह शिव मंदिर,आखिर ऐसा क्यों,जानिए पूरी खबर

बरसों से वीरान है बाड़मेर का यह शिव मंदिर

By: भवानी सिंह

Published: 09 Feb 2018, 08:50 PM IST

बाड़मेर.बाड़मेर के किराड़ू मंदिर को राजस्थान का खजुराहो कहा जाता है। लेकिन पिछले 900 सालों से किसी भी शख्स ने रात्रि में यहां जाने की हिम्मत नहीं जुटाई है। किराड़ू के मंदिर भगवान शिव और भगवान विष्णु को समर्पित है। भगवान शिव को समर्पित मंदिर का नाम सोमेश्वर मंदिर है। इस मंदिर की बनावट बहुत ही दर्शनीय है। अनेक खम्भों पर टिका सोमेश्वर मंदिर भीतर से दक्षिण के मीनाक्षी मंदिर की याद दिलाता है, वहीं इस मंदिर का बाहरी आवरण खजुराहो के मंदिर का अहसास कराता है। मंदिर के काले व नीले पत्थर पर हाथी-घोड़े व अन्य आकृतियों की नक्काशी मंदिर की सुंदरता को बढाती है। इसके अलावा सोमेश्वर मंदिर के भीतरी भाग में बना भगवान शिव का मंडप भी बहुत ही शानदार है। इस मंदिर के अलावा किराड़ू में एक भगवान विष्णु का मंदिर भी है । वहीं तीन अन्य मंदिर खंडहर में तब्दील हो चुके है।

किराड़ू पर है साधु का श्राप
लोगों में मान्यता है कि इस स्थान को एक साधु का श्राप लगा हुआ है। 900 साल पहले यहां परमार राजवंश का शासन था। उन दिनों यहां एक ज्ञानी साधु रहने आए थे। कुछ समय बाद वे साधु देशभ्रमण पर निकले तो उन्होने अपने साथियों को स्थानीय लोगों के सहारे छोड़ दिया। एक दिन उनके सभी शिष्य बीमार पड़ गए। इस अवस्था में एक कुम्हारिन को छोड़कर अन्य किसी भी व्यक्ति ने उनकी देखभाल नहीं की। जैसे ही साधु वापस आए तो उन्हे इस बारे में जानकर बहुत क्रोध आया। क्रोध में साधु ने कहा कि जिस जगह पर दयाभाव नहीं है वहां मानवजाति को भी नहीं होना चाहिए। इस दौरान साधु ने सभी नगरवासियों को पत्थर बन जाने का श्राप दे दिया। लेकिन जिस कुम्हारिन ने उनके शिष्यों की सेवा की थी ,साधु ने उसे सचेत कर दिया और शाम से पहले उसे वहां से चले जाने को कहा और पीछे मुड़कर न देखने की हिदायत भी दी। लेकिन कुछ दुर जाने के बाद कुम्हारिन ने पीछे मुड़कर देखा तो वह भी पत्थर बन गई । इस श्राप के बाद यह माना जाता है कि शहर में यदि कोई भी शाम ढलने के बाद इस स्थान पर जाता है तो वह पत्थर बन जाता है। इसी मान्यता की वजह से सालों से यह स्थान वीरान पड़ा है।

भवानी सिंह Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned