बाजरे की यह किस्म कर देगी मालामाल, पढि़ए पूरा समाचार


- नवीन किस्म की जानकारी को लेकर कार्यक्रम आयोजित

By: Dilip dave

Published: 16 Sep 2021, 12:25 AM IST


बाड़मेर. जिले में बाजरे की सामान्य किस्मों में किसी न किसी पौष्टिक तत्व या सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी रहती है। इन कमियों को दूर करने के लिए कृषि विज्ञान केन्द्र, गुड़ामालानी की ओर से गांव आलपुरा में बाजरे की किस्म एमपीएमएच-17 का प्रक्षेत्र दिवस मनाया गया।

इसमें प्रभारी डॉ. प्रदीप पगारिया ने बताया कि इस किस्म की ऊंचाई 175 से 185 सेमी, सिट्टों की लंबाई 22 से 23 सेमी है। जोगिया रोग रोधी तथा मध्यम अवधि में पकने वाली इस किस्म के अनाज की औसत पैदावार लगभग 26 से 28 क्विंटल प्रति हैक्टेयर तथा सूखे चारे की पैदावार 61 से 69 क्विंटल प्रति हैक्टेयर है।

डॉ. हरि दयाल चौधरी ने बताया कि यह किस्म कम वर्षा वाले क्षेत्रों के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध हुई है तथा किसान इस किस्म को अपने खेत पर लगाने के लिए अधिक आकर्षित हो रहे हैं।

डॉ. बाबुलाल जाट ने केन्द्र की ओर से आयोजित विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षणों एवं मृदा नमूना लेने की विधि के बारे में जानकारी प्रदान की।

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned