अकाल की मार झेल रहे पशुधन पर अब अज्ञात बीमारियों का प्रकोप तीन बछड़ों की मौत

अकाल की मार झेल रहे पशुधन पर अब अज्ञात बीमारियों का  प्रकोप  तीन बछड़ों की मौत
Three calves die from unknown disease

Moola Ram Choudhary | Updated: 14 Jun 2019, 11:54:46 AM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

- घोनिया गांव में पशुधन बीमार

चौहटन. अकाल की मार झेल रहे पशुधन पर अब अज्ञात बीमारियों ने भी प्रकोप बरपाना शुरू कर दिया है। तहसील के घोनिया गांव में पिछले तीन दिन में एक ही घर में तीन बछड़ो की अज्ञात बीमारी से मौत हो गई है। घोनिया निवासी पशुपालक शैतानसिंह पुत्र मंगलसिंह राजपूत ने बताया कि अस्पताल जाकर पशुधन सहायक से दवाई लाकर भी इन बछड़ो को पिलाई गई, लेकिन एक के बाद एक 3 दिनों में तीन बछड़े मर चुके हैं।

उन्होंने बताया कि एक गाय भी बीमार है। ग्रामीणों के अनुसार उन्होंने पशुपालन विभाग को जानकारी भी दी, लेकिन अभी तक विभाग की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

 

घर के पास खड़ी किशोरी को जीप ने मारी टक्कर, मौत

वहीं इधर चौहटन थाना क्षेत्र के लाखासर गांव की सरहद में अपने ढाणी के पास खड़ी एक किशोरी को जीप ने टक्कर मार दी। घायल किशोरी को निजी वाहन से तत्काल बाड़मेर लेकर रवाना हुए, लेकिन बीच राह में ही उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने बताया कि लाखासर गांव में गुरुवार शाम हीरों (16) पुत्री चूनाराम जाट अपने घर के पास खड़ी थी।

इसी दरम्यान एक तेज रफ्तार जीप ने टक्कर मार दी और चालक वाहन सहित मौके से फरार हो गया। घायलावस्था में हीरों के परिजन उसे निजी वाहन से बाड़मेर अस्पताल लेकर रवाना हुए, लेकिन उसने बीच राह में ही दम तोड़ा। सूचना मिलने पर पुलिस ने वाहन की तलाश कर उसे जब्त किया। हीरों के चाचा भभूताराम ने चालक गौरव पुत्र मेहरसिंह के खिलाफ मामला दर्ज करवाया।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned