यातायात व्यवस्था बिगड़ी, आमजन परेशान

यातायात व्यवस्था बिगड़ी, आमजन परेशान

Dileep Kumar Dave | Publish: Dec, 08 2018 11:56:00 PM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

सुधार के प्रस्ताव फाइलों में कैद, नहीं किया जा रहा अमल

 

-
समदड़ी. कस्बे में बिगड़ी यातायात व्यवस्था पर हर दिन कस्बे व क्षेत्र के हजारों जनों को बड़ी परेशानी उठानी पड़ती है। बाजार में दिन में बीसियों बार लगने वाले जाम पर कस्बे, क्षेत्र के राहगीरों, वाहन चालकों का जीना दूभर हो गया है, लेकिन सुधार को लेकर कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है।

20 हजार की आबादी वाले कस्बे में बिगड़ी यातायात व्यवस्था पर कस्बे व क्षेत्रवासियों का सुख चैन छीन गया है। यातायात व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। मुख्य बाजार से छोटे-बड़े सभी यात्री व भार वाहन गुजरते हैं। चालक स्वयं की सुविधा अनुसार इन्हें सड़क किनारे खड़े करते हैं। घंटों इन्हें नहीं हटाते हैं। इस पर हर दस मिनट बाद जाम लगता है। इससे राहगीरों, वाहन चालकों को पग-पग परेशानी उठानी पड़ती है। कस्बे में बिगड़ी यातायात व्यवस्था से परेशान लोग कई बार प्रशासन व पुलिस से समाधान की मांग कर चुके हैं। पुलिस थाना में आयोजित सीएलसी की बैठकों में सुधार को लेकर अनेक बार प्रस्ताव लिए जा चुके हैं, लेकिन किसी एक प्रस्ताव पर अमल नहीं किया जाता है। इस पर यातायात व्यवस्था में सुधार की बजाए यह ओर बिगड़ती जा रही है। हर दिन हजारों जनों को होने वाली परेशानी से ग्राम पंचायत, तहसील प्रशासन व पुलिस विभाग अच्छी तरह से वाकिफ है, लेकिन समस्या समाधान को लेकर कोई प्रयास तक नहीं किए जा रहे हैं। कस्बे के मुख्य मार्गों पर पुलिस के जवान नियुक्त कर व पार्किंग बनाकर बिगड़ी यातायात व्यवस्था को सुधारा जा सकता है, लेकिन आज दिन इस दिशा में कोई प्रयास तक नहीं किए गए। इससे आमजन में रोष है। निसं.
यातायात पुलिस की व्यवस्था जरूरी - समदड़ी बड़ा कस्बा है। पंचायत व तहसील मुख्यालय भी है। यातायात व्यवस्था सुचारू के लिए यातायात पुलिस की व्यवस्था होनी चाहिए। इससे की आमजन को परेशानी नहीं हों। - पुरुषोतम सोनी समदड़ी

हर दिन हो रही परेशानी- समदड़ी से दर्जनों गांव जुड़े हुए हैं। दिन की शुरुआत के साथ ही क्षेत्र भर से लोगों का आवागमन शुरू होता है। हर दिन हजारों जने यहां पहुंचते हैं। बिगड़ी यातायात व्यवस्था पर आमजन परेशान है। यातायात पुलिस को नियुक्त करें। - प्रकाश मेहता, समदड़ी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned