बालिकाओं को बताए आत्मरक्षा के गूर

बालिकाओं को बताए आत्मरक्षा के गूर
tricks-to-maintain-self-defense-girls

Om Prakash Mali | Updated: 13 Jul 2019, 10:53:34 PM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/barmer-news/

बालिकाओं को बताए आत्मरक्षा के गूर- फोटो

बाड़मेर पत्रिका
स्थानीय एमबीसी महिला महाविद्यालय में शनिवार को महिला सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए प्राचार्य ड़ॉ हुकमाराम सुथार ने कहा कि सुरक्षा के लिए आवश्यक है हरदम सावधानी। यह आवश्यक है कि छात्राएं अपनी सुरक्षा के लिए किसी भी घटना को हलके में न लें। साथ ही यह भी आवश्यक है कि लडकियां अपने आचरण को लेकर बेपरवाह न रहे। सुथार ने कहा कि मोबाइल और सोशल साइट्स दुधारी तलवार की तरह हैं इसमें विशेष सावधानी की जरुरत है। इस दौरान पुलिस की एंटी रोमियो शाखा की भंवरी, मिरगो, जीयों व हीरो ने छात्राओं को बताया कि छेड़छाड़ से सम्बंधित किसी भी मामले में कण्ट्रोल रूम 221822 पर कॉल कर सूचित कर मदद प्राप्त की जा सकती है। इन्होने घटनाओं के उदाहरण देते हुए बताया कि किस तरह किसी भी मनचले को कैसे एक फ ोन मात्र से हवालात के अन्दर किया जा सकता है। इस अवसर छात्राओं में पूर्व छात्रा संघ उपाध्यक्ष भारती माहेश्वरी, अनीता पालीवाल, मनीषा महेचा, तेजू, प्रियंका और संतोष विश्नोई ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए माना कि अगर छात्राएं सजग रहें और कड़ी नजर रखें तो छेड़छाड़ के घटनाओं से बचा जा सकता है। मुकेश पचौरी ने धन्यवाद व्यक्त किया। कार्यक्रम में प्रो मांगीलाल जैन , डायालाल सांखला, घनश्याम बीठू, सूरज प्रकाश, गायत्री तंवर, सरिता लीलड आदि मौजूद रहे। इस अवसर पर ड़ॉ सुथार ने बताया कि सोमवार से महाविद्यालय में कोचिंग कक्षाओं की शुरुआत होगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned