curfew : पूरे दिन भीड़, शाम को पसरा सन्नाटा, बाड़मेर में बाजार बंद, अब दो दिन बाद खुलेंगे

-कफ्र्यू लगने के बाद भी बाजार से लौटते रहे लोग
-प्रशासन-पुलिस ने लोगों को घरों में रहने की दी हिदायत
-शाम 5 बजते ही दुकानें बंद होना हो गई शुरू
-ठीक 6 बजे रेलवे स्टेशन पर हूटर बजाकर किया अलर्ट

By: Mahendra Trivedi

Published: 16 Apr 2021, 10:37 PM IST

बाड़मेर. कोविड महामारी की दूसरी लहर में संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए दो दिन के वीकेंड कफ्र्यू के शुरूआत शुक्रवार शाम 6 बजे से हो गई। अब शनिवार और रविवार के बाद सोमवार को बाजार फिर से खुलेंगे। दो दिनों में केवल आवश्यक सेवाओं के अलावा सब कुछ बंद रहेगा। नियम तोडऩे पर पुलिस व प्रशासन की ओर से सख्ती की जाएगी।
बाड़मेर शहर में कफ्र्यू के चलते शाम 5 बजे ही दुकानों के बंद होने का सिलसिला शुरू हो गया। ठीक छह बजे तो पूरा बाजार बंद नजर आया। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी अहिंसा सर्कल से स्टेशन रोड पर काफिले के रूप में रवाना हुए और लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी। इस दौरान गांधी चौक में पुलिस ने आते-जाते लोगों को रोकते हुए कफ्र्यू की पालना के निर्देश दिए।
बाजारों में दिन भर रही भीड़
दो दिन का कप्र्यू लगने के चलते शुक्रवार को पूरे दिन बाजारों में भीड़ उमड़ती रही। कई बार तो यह स्थिति हो गई कि जाम लग गया। राहगीरों तक को निकलने की जगह नहीं मिली। खासकर स्टेशन रोड से गांधी चौक और भीतर के बाजारों में भीड़ रही। शादियों के सीजन के चलते खरीदार बाजारों में ज्यादा रहे।
कफ्र्यू के दौरान बाजार से लौटते रहे लोग
प्रशासन की ओर से बाजारों में लगातार ऑटो के माध्यम से मुनादी करवाई गई कि शाम 6 बजे से कफ्र्यू लगेगा, इसके बावजूद लोगों की बाजारों से आवाजाही रही। बाजार से सामान के साथ लौट रहे लोगों ने बताया कि शादी के लिए खरीददारी करने आए थे, सामान तैयार होने में देरी हो गई। इसके कारण अब घर लौट रहे हैं।

Mahendra Trivedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned