कम- ज्यादा वोल्टेज से एक्स-रे मशीन हो रही बंद

कम- ज्यादा वोल्टेज से एक्स-रे मशीन हो रही बंद

seraj khan | Publish: Dec, 07 2017 11:35:01 AM (IST) Barwani, Madhya Pradesh, India

10 दिन से हो रही परेशानी, 1 घंटे काम रहता है प्रभावित, इसका मुख्य कारण बिजली का वोल्टेज बार-बार कम ज्यादा होना है।

बड़वानी. जिला अस्पताल स्थित एक्स-रे मशीन बार-बार बंद हो रही है। इसका मुख्य कारण बिजली का वोल्टेज बार-बार कम ज्यादा होना है। वॉल्टेज कम होने से मशीन बंद हो रही है। वहीं, बढऩे से सॉफ्टवेयर उडऩे का खतरा होने से बंद करना पड़ रहा है। मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ता था। यह समस्या पिछले 10-15 दिनों से आ रही है। बावजूद इसके अभी तक इसका कोई स्थाई हल नहीं निकल पाया है।

पत्रिका ने इसकी पड़ताल की। तो पता चला वोल्टेज कम व ज्यादा होने से एक्स-से मशीन को बंद हो रही है। इससे काम तो प्रभावित होता ही है साथ ही अस्पताल में आने वाले मरीजों को परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। कई बार एक्स-रे रूम के बाहर भीड़ भी लग जाती है। वोल्टेज ज्यादा होने से ट्रांसफार्मर जलने की संभावना बन जाती है। इस संबंध में जिला अस्पताल के इलेक्ट्रिशियन ने बिजली कंपनी को पत्र लिखा था। इसके जवाब में अफसरों ने अस्पताल आकर जांच भी की थी। अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है। इसके अलावा रूम में लगे कम्प्यूटर के सॉफ्टवेयर भी उडऩे का अंदेशा बना रहता है।

रोजाना होते हैं 50 से 60 एक्स-रे
अस्पताल में रोजाना बड़ी संख्या में मरीज आते है। एक दिन में ५० से ६० एक्स-रे होते है। लेकिन मशीन बंद होने से करीब १ घंटा काम प्रभावित होता है। टेक्निशियन ने बताया १ घंटे काम प्रभावित होने से मरीजों के समय पर एक्स-रे नहीं हो पाते है। जबकि इतनी देर में 10 से 20 मरीजों के एक्स-रे किया जा सकते है।

हाथ से पर्ची बनाते हैं
अस्पताल की ओपीडी टिकट केंद्र में भी वोल्टेज कम-ज्यादा होने से काम प्रभावित होता है। इसके कारण कम्प्यूटर बंद रहते है। आने वाले मरीजों को हाथ से पर्ची बनाकर देना पड़ता है। अस्पताल में रोजाना ४०० ओपीडी रहती है। कम्प्यूटर बंद होने से समय ज्यादा लगता है।

बिजली कंपनी को लिखेंगे पत्र
मैंने टेक्नीशियन से इस संबंध में चर्चा की है। बिजली कंपनी को पत्र लिखने को कहा है। साथ ही मैं स्वयं अधीक्षण यंत्री से बात करूंगीं। मरीजों को किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी।
डॉ. अनिता सिंगारे, सिविल सर्जन

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned