अहिंसा का संदेश देते हुए कंधे पर भगवान की पालकी लेकर निकले

अहिंसा का संदेश देते हुए कंधे पर भगवान की पालकी लेकर निकले

Manish Arora | Publish: Apr, 17 2019 08:25:20 PM (IST) Barwani, Barwani, Madhya Pradesh, India

भगवान महावीर की जयंती पर जैन समाज ने किए विभिन्न आयोजन, श्रीजी का अभिषेक कर चढ़ाया निर्वाण लाडू, दी भजनों की प्रस्तुति

खबर लेखन : मनीष अरोरा
ऑनलाइन खबर : विशाल यादव
बड़वानी. जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का जन्मोत्सव बुधवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। महावीर जयंती पर अहिंसा परमोधर्म, जीयो और जीने दो के संदेश को देते हुए कंधों पर भगवान की पालकी लेकर समाजजन निकले। महावीर जयंती के अवसर पर जैन मंदिर में विभिन्न धार्मिक आयोजन भी हुए।
जैन मंदिर में सुबह भगवान की नित्य पूजन, अभिषेक, शांतिधारा हुई। सुबह 8 .30 बजे मंदिरजी में बैंडबाजों के साथ शोभायात्रा निकाली गई, जो शहर के झंडा चौक, रणजीत चौक, एमजी रोड, कालिका माता, चंचल चौराहा, गार्डन रोड, रानीपुरा होकर गुजरी। यात्रा के दौरान समाज के पुरुष केसरिया व श्वेत वस्त्रों में भगवान के जयघोष लगाते हुए और पालकी उठाए चल रहे थे। वहीं समाज की महिलाएं मंगल कलश शिरोधार्य कर चल रहीं थीं। प्रमुख स्थानों पर महिलाओं ने भजनों पर नृत्य कर खुशी का इजहार किया। मार्ग में समाजजनों ने अपने घर-प्रतिष्ठानों के सामने श्रीजी का पूजन-दर्शन कर श्रीफल भेंट किए। शोभायात्रा के बाद मंदिर में भगवान के कलश व शांतिधारा हुई। परिसर स्थित विभिन्न मंदिरों में ध्वज चढ़ाई गई। शाम को श्रीजी की आरती व झूले में झुलाने का आयोजन हुआ।
इन्हें मिला सौभाग्य
समाज के मनीष जैन ने बताया कि मंदिर में भगवान का प्रथम अभिषेक का सौभाग्य पंकज जैन को, शांतिधारा का सौभाग्य कंचनबाई अजमेरा परिवार को, भगवान की महाआरती व पालने में झूलाने का सैभाग्य माता अर्चना महावीर जैन को प्राप्त हुआ। इसी तरह भगवान के मंदिर के शिखर व नेमीनाथ भगवान की वेदी पर ध्वज चढ़ाने का सौभाग्य अलोक मनमोहन वेद को, शांतिनाथ भगवान की वेदी पर नवीन कुमार जैन, पाŸवनाथ भगवान की वेदी पर प्रेमलता मनोहर काला, कुंथूनाथ भगवान की वेदियों पर सुरेशचंद्र काला गांगली, महावीर स्वामी की वेदियों पर जितेंद्र देवेंद्र गोधा, जीनवाणी की वेदियों पर माला मुकेश जैन, आचार्य सन्मति सागरजी की वेदियों पर मनोरमा वेद, क्षेत्रपाल देव की वेदियों पर नित्यम हिमांशी वोहरा एवं पदमावती माता की वेदियां पर ध्वज चढ़ाने का सौभाग्य सिद्धार्थ सुधीर पहाडिय़ा परिवार को प्राप्त हुआ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned