समझाने के बाद भी नहीं माना चचेरी बहन का प्रेमी तो कर दी हत्या

समझाने के बाद भी नहीं माना चचेरी बहन का प्रेमी तो कर दी हत्या

Manish Arora | Publish: May, 18 2019 11:31:49 AM (IST) Barwani, Barwani, Madhya Pradesh, India

बीएड के छात्र ने मृतक से दोस्ती कर पिलाई शराब और सिर कुचलकर मार डाला, ओझर थाना क्षेत्र में अंधे कत्ल का मामला, 24 घंटे में हुआ पर्दाफाश

बड़वानी. ओझर पुलिस ने 24 घंटे में अंधे कत्ल का पर्दाफाश किया है। 16 मई को घुसगांव ठोकबेड़ा के एक सूखे कुएं में राहुल पिता प्यारसिंह का शव मिला था। जिसके बाद पुलिस ने जांच कर मामले का खुलासा किया। मृतक राहुल के गांव की एक युवती से प्रेम प्रसंग था। जिसके चलते युवती का चचेरा भाई शेरू पिता काशीराम गौरे उससे रंजिश रखता था। शेरू ने राहुल को समझाने की कोशिश भी की, लेकिन वो नहीं माना। जिसके बाद शेरू ने षड्यंत्र रचकर राहुल की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपित को हिरासत में लेकर न्यायालय पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोपित शेरू खरगोन में रहकर बीएड की पढ़ाई कर रहा था।
शुक्रवार को मामले का खुलासा करते हुए एएसपी सुनीता रावत ने बताया कि 16 मई को नागलवाड़ी थाना क्षेत्र की ओझर पुलिस चौकी के ग्राम घुसगांव ठोकबेड़ा के सूखे कुएं में एक युवक का सिर कुचला शव मिला था। शव की शिनाख्त गांव के ही राहुल के रूप में हुई थी। कुएं के बाहर 25 किलो वजनी खून सना पत्थर भी मिला था। मामला अंधे कत्ल का होने से एसपी यांगचेन डी भूटिया ने टीम गठित कर निर्देश दिए थे। जांच में पता चला कि राहुल मन्नत का खाना खाने 14 मई की शाम को घर से निकला था। गांव के एक युवक शेरू के साथ उसे देखा गया था। जब पुलिस ने शेरू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने हत्या की बात कबूल कर ली।
दोस्ती गांठी, पिलाई शराब, फिर उतारा मौत के घाट
5 मई को शेरू ने राहुल को अपनी चचेरी बहन से मिलते देख लिया था। जिसके बाद उसने राहुल को अपनी बहन से दूर रहने को भी कहा था। शेरू की चचेरी बहन रिश्ते में राहुल की भी दूर की बहन लगती थी। जब राहुल नहीं माना तो शेरू ने प्लान बना लिया कि राहुल को मौत के घाट उतारना है। इसके बाद उसने राहुल से दोस्ती गांठी और रोज शराब पिलाने लगा। घटना की रात भी उसने राहुल को जमकर शराब पिलाई और गांव से आधा किमी दूर सूखे कुएं के पास ले गया। शेरू ने राहुल से कहा कि सो जा तूझे शराब ज्यादा हो गई है। इस पर राहुल ने शेरू से ये भी कहा था कि तू मुझे मार तो नहीं डालेगा। शेरू ने कुछ नहीं कहा और जब राहुल शराब के नशे में बेहोश हो गया तो पत्थर से उसका सिर कुचलकर हत्या कर दी। हत्या के बाद शेरू घर चला गया और रात में तीन बजे वापस लौटकर राहुल का शव कुएं में फेंक दिया। पुलिस खुलासे के दौरान शेरू ने ये बात मीडिया के सामने भी कही। अंधे कत्ल के खुलासे में एसडीओपी सेंधवा तरुणेंद्रसिंह बघेल, नागलवाड़ी थाना प्रभारी मजहर खान, उपनिरीक्षक नेपालसिंह चौहान, एसएस निगवाल, एएसआई बीएल सोनी, एसके रघुवंशी, प्रआ शाकीर अली, अनिल पुरोहित, आरक्षक राधामोहन, सायबर सेल आरक्षक योगेश की सराहनीय भूमिका रही।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned