नपा पर लाखों का बकाया, शहर को धकेल रहा अंधरे में

नपा पर लाखों का बकाया, शहर को धकेल रहा अंधरे में

manish arora | Publish: Mar, 14 2018 11:03:31 AM (IST) Barwani, Madhya Pradesh, India

शहर की दो दुकानों से इलेक्ट्रिक सामान खरीदा जाता रहा, दुकानदारों ने उधार देने से किया इनकार

बड़वानी. नगर पालिका प्रशासन पर लाखों रुपए का बकाया शहर के लिए अंधेरे को दावत देने वाला बन गया है। शहर के कई क्षेत्रों में स्ट्रीट लाइट या तो बंद है या खराब होने की स्थिति में हैं। परिषद बदलने के बाद शहर की दशा दिशा बदलने की राह तक रहे लोगों को रात में अंधेरे का सामना करना पड़ रहा है। इसका कारण नपा को इलेक्ट्रीक सामान नहीं मिलना बताया जा रहा है। यह सामान शहर की दो दुकानों से नपा खरीदती रही है। लेकिन इनकी उधारी नहीं चुकाने पर दुकानदारों ने सामान देना बंद कर दिया। शहर के कई हिस्सों में स्ट्रीट लाइट बंद है। शहर की प्रकाश व्यवस्था का जिम्मा नगर पालिका पर है। लेकिन एक एक सप्ताह तक स्ट्रीट लाइट बंद होने से लोग परेशान हैं।

लाखों रुपए की है उधारी
बताया जाता है कि नगर पालिका शहर की दो प्रतिष्ठित दुकानों से इलेक्ट्रीकल सामान की खरीदी करती रही है। यह खरीदी नियमानुसार होती रही। लेकिन पहले एक दुकान का छह लाख रुपए बकाया हो गया। हालांकि सूत्रों का कहना है कि यह दुकान एक पार्षद के परिजन की हैं। ऐसे में बिलों को लेकर किसी ने शिकायत कर दी थी। इसके बाद से दुकान का भुगतान भी रोक लिया गया था। दुकानदार की माने तो करीब छह लाख रुपए बकाया है। भुगतान रूक जाने के कारण सामान भी मिलना बंद हो गया। इसके बाद परिषद का कार्यकाल खत्म हुआ और जिला प्रशासन के हाथों में बागडोर आई। इसके एक दूसरी दुकान से सामान खरीदना शुरू किया गया। लेकिन इस दुकान का भी करीब डेढ़ से दो लाख रुपए बकाया हो गया। जिससे यहां से भी सामान मिलना बंद हो गया। ऐसे में सीएफएल या एलईडी बल्ब सहित अन्य इलेक्ट्रीकल सामान नहीं होने के कारण नपा काम नहीं कर पा रही थी।

एक दो दिन में स्थिति हो जाएगी साफ
दोनों दुकानदारों का पैमेंट रिलीज कर दिया गया है। एक दो दिन में मामला क्लियर हो जाएगा। कहीं किसी बात की कमी नहीं है। सभी स्थानों पर स्ट्रीट लाइट चेक की जा रही है। जहां कुछ खराबी है उसे दूर किया जा रहा है।
-राजेंद्र मिश्रा, सीएमओ, नपा बड़वानी

ये भी पढ़े :
बिजलीकर्मी पहुंचे चार साल पुराना बिल वसूलने
बड़वानी. बिजली वितरण कंपनी अब लोगों से फर्जी बिल भी वसूलने लगी है। लोगों को चार-चार साल पुराने बिल भेज कर लाइट काटने की धमकी दी जा रही है। ऐसा ही एक मामला मंगलवार को भी हुआ। बिजलीकंपनी के अधिकारी पूरा अमला लेकर चार साल पुराना बिल वसूलने पहुंच गए। लेकिन जब जांच की गई तो उल्टा उपभोक्ता के पैसे बिजली कंपनी पर बकाया निकले। ओल्ड हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी राकेश सिंह ने बताया कि बिजली मीटर उनके पिता जीवन सिंह जाधव के नाम पर हैं। मंगलवार को करीब 6 बजे बिजली कंपनी के अधिकारी करीब पांच सात कर्मचारियों को लेकर पहुंचे और मेरे पिता के नाम पर 6641 रुपए बिजली बिल बकाया बताया। बिल नहीं देने की सूरत में कनेक्शन काटने की धमकी भी दी। राकेश ने बताया कि जब बिल मांगा तो वह चार साल पुराना निकला। राकेश ने कहा कि वह हर बिल समय पर भरते रहे हैं। ऐसे में चार साल पुराना बिल जमा नहीं हुआ ऐसा नहीं हो सकता। राकेश ने आरोप लगाया कि इस पर अधिकारी ने कार्रवाई की धमकी दी। जब उन्हें कोर्ट में जाने की बात कही तो अधिकारी वहां से चले गए। इसके कुछ देर बाद कुछ कर्मचारी दोबारा आए और दफ्तर में आने के लिए कहा। राकेश अपने मित्र अमित परसाई के साथ वहां पहुंचे। रिकॉर्ड जांचने की बता कही तो भी बहस की गई। इसके बाद अधिकारी ने रिकॉर्ड देखे गए तो उल्टा 359 रुपए हमारे निकले। राकेश ने बताया कि इसी दौरान कुछ और लोग इस तरह के बिल लेकर वहां आए और समस्या रखी लेकिन अधिकारी उनकी भी नहीं सुन रहे थे। राकेश ने बताया कि बिजली के बिल गलत बना कर लोगों से नाजायज रुपए वसूले जा रहे हैं। इस मामले में अधिकारियों का कहना है कि गलती से गलत बिल बन गया था। इसे ठीक किया जा रहा है।

Ad Block is Banned