navratri 2020 - छोटी बिजासन मंदिर के पट रात 10.30 बजे ही हो जाएंगे बंद

चुनरी यात्रा की अनुमति नहीं, फूलों की मालाएं भी नहीं चढ़ेंगी

By: tarunendra chauhan

Published: 17 Oct 2020, 01:15 PM IST

बड़वानी. नवरात्रि की धूम शनिवार से शुरू हो रही है। माता के दरबार सज चुके है। आकर्षक लाइटिंग मन मोह रही है। गाइड लाइन का पालन करने सहित मंदिर समितियों ने स्वयं की गाइडलाइन को लागू कर दिया है। छोटी बिजासन मंदिर समिति ने सोशल मीडिया के माध्यम से मंदिर में माता के दर्शन को लेकर नियमों को पालन कराना अनिवार्य किया है।

सुबह मंदिर के पट खुलने से लेकर रात में श्रद्धालुओं के लिए पट बंद होने तक की गाइड लाइन जारी की गई है। मंदिर के पुजारी मनोज तिवारी ने बताया कि नवरात्रि पर मंदिर में माता के दर्शन के दौरान श्रद्धालुओं को कोरोना से बचाने के लिए शासन की गाइड लाइन का पालन कराया जाएगा। सुबह 5.30से रात्रि 10 बजे खुलेगा।

मंदिर समिति ने बताया कि प्रतिदिन सुबह 5.30 बजे मंडी में माता की आरती की जाएगी। इसके बाद आम श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति होगी। मंदिर समिति के अनुसार इस बार फूल मालाएं माताजी को नहीं पहनाई जाएगी। दर्शनार्थी दर्शन के लिए अनिवार्य रूप से मास्क लगाकर मंदिर में प्रवेश करेंगे। मंदिर परिसर में हर हाल में दो गज की दूरी बनाकर रखेंगे। फिजिकल डिस्टेंस का पालन करे। बांस की अगरबत्ती के स्थान पर एक छोटी धूपबत्ती का उपयोग की अपील की है। पर्यावरण की रक्षा करें एवं धार्मिक मान्यताओं के अनुसार बांस नहीं जलाना चाहिए।

इस वर्ष नवमीं पर नहीं होगा भंडारा
प्रतिवर्ष चुनरी यात्रा का आयोजन रखा जाता है, लेकिन इस वर्ष प्रशासनिक मंजूरी न मिलने के कारण एवं जन हित में कोरोना संक्रमण को रोकने मे सहयोग करते हुए वर्ष 2020 की चुनरी यात्रा स्थगित रहेगी। प्रतिवर्षानुसार नवमीं पर भंडारा प्रसादी का आयोजन किया जाता था, जो इस वर्ष निरस्त कर दिया गया है। भंडारे में प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचकर प्रसादी ग्रहण करते हैं।

छोटी बिजासन मंदिर में माता का आकर्षक शृंगार किया जाएगा। नवरात्रि के दौरान यहां बड़वानी के अलावा आसपास के जिलों के और महाराष्ट्र के भी श्रद्धालु दर्शन करने पहुंचते हैं।

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned