रहवासी क्षेत्र में बनाया आईसोलेशन वार्ड, लोगों ने शुरू किया विरोध

मेडिकल संचालक भी दबी जुबान में कर रहे हैं ट्रामा सेंटर आईसोलेशन वार्ड हटाने की मांग

By: vishal yadav

Updated: 18 Apr 2020, 10:48 AM IST

बड़वानी. स्वास्थ्य विभाग नेे प्रारंभिक रूप से जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में आईसोलेशन वार्ड बनाया था। इसके अलावा आशाग्राम में भी 100 बेड आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था की है। साथ ही राजघाट रोड एनवीडीए रेस्ट हाउस में भी व्यवस्था की है। इस बीच गत दिनों शहर में मिले संदिग्ध व संक्रमितों को ट्रामा सेंटर में बनाए आईसोलेशन वार्ड में रखने से आसपास के रहवासी क्षेत्रों में चिंता बढ़ गई है। जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर परिसर में डॉक्टर के क्वाटर्स है। वहीं आसपास रहवासी क्षेत्र है। सुतार गली में एक स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित पाए जाने पर कचहरी रोड तक कंटेनमेंट एरिया बनाकर इसे सील किया है। ऐसे में पुराना कलेक्टोरेट से एमजी रोड की ओर लोग ट्रामा सेंटर के पीछे के मार्ग से आवाजाही कर रहे है। अधिकांश क्षेत्र के लोग जिला अस्पताल भी इसी मार्ग से गुजर रहे है।
खुले वातावरण स्थित वार्ड का उपयोग हो
रहवासी मनीष जैन ने बताया कि ट्रामा सेंटर फिलहाल घनी आबादी के बीच है। ऐसे में लोगों में बीमारी-संक्रमण फैलने का भय बढ़ गया है। परिसर में डॉक्टर्स-नर्स निवास कर रहे है। दो दिन पूर्व ही ताबड़तोड़ ट्रामा सेंटर के पास बाउंड्रीवाल तोड़कर एंबुलेंस के लिए रास्ता बना दिया है। रहवासियों का कहना है कि प्रशासन ने शहर के बाहरी स्थानों पर खुले वातावरण में आईसोलेशन की व्यवस्था की हैं तो मरीजों को वहीं रखना चाहिए। वहीं दबी जुबान में कई मेडिकल संचालक भी यहां बनाए ट्रामा सेंटर को हटाने की बात कर रहे हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों को यहां भर्ती करने के बाद उन्हें भी डर सता रहा है।
वर्जन...
सभी जगह सरकारी अस्पतालों में ही आईसोलेशन वार्ड हैं। निजी अस्पतालों में भी आईसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। वहां भी समस्त व्यवस्थाएं की गई हैं। जरुरत पडऩे पर उनका उपयोग भी किया जाएगा।
-गजेंद्र पटेल, सांसद खरगोन-बड़वानी

vishal yadav Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned