अब महिला अस्पताल परिसर के बाहर नहीं होगी भीड़भाड़, यातायात सुचारु रहेगा

नगर पालिका ने स्थाई ठेलों पर लगने वाली फल-फु्रट दुकानें हटवाई, दूध डेयरी के पास रपट की धुलाई कर लगवाई दुकानें

By: vishal yadav

Published: 27 May 2020, 11:53 AM IST

बड़वानी. कोरोना महामारी के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर प्रशासन सख्त रवैया अब भी बना हुआ है। मंगलवार को नगर पालिका टीम ने महिला व जिला अस्पताल के बाहर ठेलों पर लगने वाली स्थाई दुकानों को हटाने की कार्रवाई की। यहां से दुकानें हटवाकर दूध डेयरी के पास नाले पर बनाई रपट पर लगवाई है। नपा ने यहां फायर वाहन से धुलाई करवाकर विद्युत की व्यवस्था भी की है। इससे अब अस्पताल के बाहर भीड़भाड़ नहीं दिखेगी और यातायता भी सुचारु रहेगा।
कोरोना महामारी के बीच फल ठेले वालों की लगी स्थाई दुकानों पर लॉक डाउन में छूट के बाद खासी भीड़भाड़ लग रही थी। खासकर महिला अस्पताल के बाहर दुकानें लगने से भीड़ के अलावा यातायात पर दबाव बन रहा था। यहां हर दुकानदार द्वारा तीन से चार ठेलों पर दुकान लगाकर स्थाई तंबू लगा लिए थे। वहीं एक चाय दुकान संचालक ने भी बड़ा कब्जा कर लिया था। मंगलवार सुबह नपा ने शहर में मुनादी करवाकर ठेला संचालकों को स्थाई दुकान न लगाते हुए घूमते-फिरते रहने का आह्वान भी किया। नपा सीएमओ कुशलसिंह डोडवे व राजस्व प्रभारी रामकरण डावर की मौजूदगी में रणजीत क्लब के सामने और एसडीओपी कार्यालय के सामने व महिला अस्पताल के बाहर लगी दुकानों को हटवाया गया।
15 लोगों से 1500 रुपए दंड वसूला
सीएमओ ने बताया कि दुकानदारों को दूधडेयरी के पास शि ट किया है। वहां फायर वाहन से धुलाई-सफाई करवाकर विद्युत की व्यवस्था भी की है। वहां दुकानदारों को सुविधा रहेगी। साथ ही यातायात भी प्रभावित नहीं होगा। इसके बाद भी दुकानदार अगर जहां-तहां दुकान लगाएंगे तो दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। वहीं सोमवार शाम नपा टीम ने भ्रमण कर ऐसे फल-ठेले वालों के चालान बनाए, जो मास्क का उपयोग नहीं कर रहे थे। राजस्व प्रभारी के अनुसार 15 लोगों के चालान बनाकर 1500 रुपए वसूले गए। साथ ही चेतावनी देते हुए अनिवार्य रुप से मास्क लगाने के निर्देश दिए।

vishal yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned