आधी रात जब जागा दुल्हा तो दुल्हन थी गायब, गहनों के साथ हुई रफुचक्कर

अब तक कर चुकी है तीन शादियां, नए शिकार की तलाश में था परिवार, पुलिस बनी लड़के वाला फिर बिछाया जाल तो धराए मां-बेटी, मौसी और दलाल

बड़वानी. शादी की आधी रात जब दुल्हें की नींद खुली तो दुल्हन गायब मिली। पहली ही रात में दुल्हन के घर में नहीं होने से पूरा परिवार सकते में आ गया। जब परिवार ने दुल्हन के जेवर देखे तो वो भी नहीं मिले। इसके बाद दुल्हे और उसके घर वालों ने थाने पर शिकायत की। वहीं दुल्हन और उसके परिवार वाले एक दलाल के साथ मिलकर अपना नया शिकार ढूंढने की तैयारी में भी लग गए। इनका नया शिकार कोई मासूम होता, उसके पहले ही पुलिस ने दुल्हन, उसकी मां, मौसी और दलाल को पकड़ सलाखों के पीछे पहुंचा दिया।
इनका तीसरा शिकार बने इंडोरमा, पीथमपुर (धार) निवासी महेंद्र के पिता दुर्गाशंकर सुतार ने कोतवाली थाने आकर इस पूरे मामले की शिकायत की। इन्होंने पुलिस को बताया कि उनके बड़े लड़के की शादी नहीं हो रही थी तो एक परिचित से लड़की देखने की बात कही। इस पर सुनिता की लड़की किरण से शादी की बात चली। इनके दलाल वीरु शर्मा ने लड़की वालों को शहर में ही किराए का एक अच्छा मकान दिलाया। जब लड़के वाले लड़की देखने आए तो उन्हें बताया कि ये इन्हीं का मकान है। 21 नवंबर को उसी मकान में वीरु शर्मा ने पंडित बनकर महेंद्र और किरण की शादी कराई। इस दौरान लड़की पक्ष को लड़के वालों ने 70 हजार रुपए भी दिए। इस काम में लड़की की मौसी चकेलीबाई भी शामिल थी। विवाह करने के बाद ये लोग घर पहुंचे तो रात साढ़े तीन बजे दुल्हन नहीं मिली। इसके बाद लड़के वालों ने तलाश की और थाने पर रिपोर्ट दर्ज कराई।
लड़के वाला बन पुलिस की बात तो धराए
फरियादी की रिपोर्ट पर पुलिस ने एक टीम बनाई। पुलिस टीम ने लड़के वाला बन दलाल वीरु शर्मा से बात शुरू की। इसके बाद लड़की किरण, उसकी मां सुनीताबाइ, और मौसी चेकलीबाई और पंडित वीरु से तय स्थान पर मुलाकात की। यहां लड़की को मां ने सगाई के लिए 50 हजार और शादी के समय एक लाख रुपए, गहने की मांग की। इस पर टीम ने तत्काल घेराबंदी कर सभी को हिरासत में लेकर गिरफ्तार कर लिया।
अब तक कर चुकी है तीन शादियां
किरण की पहली शादीउदयपुर में तय हुई थी। दुल्हन की मां सुनिताबाई ने बताया कि वहां से किरण का तलाक कराया। वहां से भी ये रुपए और गहने लेकर आई थी। उसके बाद लड़की ने राजस्थान निवासी पुसाराम जाट से लव मैरिज किया। लव मैरिज के कुछ दिन बाद लड़की वहां से अपनी मां के पास ठीकरी आ गई। उसके बाद इन्होंने पीथमपुर के दुर्गाशंकर के लड़के महेन्द्र पंचाल को शिकार बनाया। पुलिस ने वीरु (38) पिता लालजी शर्मा निवासी न्यू हाउसिंग बोर्ड बड़वानी, किरण (23) पिता देवेसिंग पंवार निवासी आनंद खेड़ी ठीकरी, सुनिताबाई (50) पति देवेसिंग पंवार आनंद खेड़ी ठीकरी और चकेलीबाई (48) पति गुड्डु मेहरा निवासी मुम्मई माता मंदिर बड़वानी को गिरफ्तार किया है। इनके पास से सोने का मंगलस्त्र, नाक का काटा, चांदी के एक जोड़ बिछिया और 40 हजार रुपए बरामद किए हैं।
इनका रहा सहयोग
पुलिस अधीक्षक डीआर ने निर्देशन में टीआई राजेश यादव, एसआई मोहनसिंह डावर, जानी चारेल, शिवराम निर्वेल, झिरमल सापलिया, एएसआई आरसी चौहन, आरक्षक जगजोध सिंह, बलवीर,् अंतरसिंह, योगेश पाटील साइबर, सुरेंद्रसिंह, गेंदालाल, महिला आरक्षक रेशम, प्रिंयका, गायत्री का सहयोग रहा।

vishal yadav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned