Strike : समर्थन मूल्य के लिए बंद हुआ किसानों का पंजीयन

सहकारिता कर्मियों ने शुरु की कलमबंद हड़ताल, समर्थन मूल्य की खरीदी के लिए किसानों का पंजीयन गुरुवार से बंद हो गया

By: vishal yadav

Updated: 05 Feb 2021, 11:43 AM IST

बड़वानी. जिले में आगामी माह से शुरु होने वाली समर्थन मूल्य की खरीदी के लिए किसानों का पंजीयन गुरुवार से बंद हो गया है। दरअसल विभिन्न मांगों को लेकर सहकारिता कर्मियों ने कलमबंद हड़ताल शुरु कर दी है। इससे पीडीएस (सार्वजनिक वितरण प्रणाली) दुकानों पर भी ताले लग गए है। कर्मियों द्वारा अपने-अपने कार्यालय के बाहर बैठकर मांगों के समर्थन में धरना प्रदर्शन किया।
उल्लेखनीय है कि जिले में इस वर्ष समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए 25 जनवरी से 25 फरवरी तक पंजीयन होना है। इसमें 10 हजार से अधिक किसानों के पंजीयन का लक्ष्य निर्धारित किया है। यह पंजीयन प्रक्रिया जिले में बनाए 26 केंद्रों पर किया जा रहा है। इस बार शासन द्वारा जिले से समर्थन मूल्य पर चार लाख क्ंिवटल गेहूं खरीदी का लक्ष्य तय किया है। अब तक करीब 20 दिनों में तीन हजार किसानों ने ही अपना पंजीयन करवाया है। उधर विभिन्न मांगों को लेकर सहकारिता कर्मियों ने गुरुवार से अनिश्चितकालिन कलमबंद हड़ताल शुरु की हैं, ऐसे में किसानों के पंजीयन की प्रक्रिया प्रभावित होने की आशंका है। बता दें कि एक दिन पूर्व ही सहकारिता कर्मियों ने कलेक्टोरेट पहुंचकर पीओएस मशीनें जमा करने और मांगों के निराकरण की गुहार लगाकर हड़ताल से प्रशासन को अवगत कराया था। आज शुरु हुई हड़ताल 17 फरवरी तक रहेगी। 18 फरवरी को कर्मी भोपाल कूच कर सीएस हाउस का घेराव करेंगे। बावजूद मांगों के निराकराण नहीं होने तक इसके अगले दिन 19 फरवरी भोपाल में ही चक्काजाम कर इच्छामुत्यु मांगेंगे।
54 सोसायटी सहित 440 पीडीएस दुकानें बंद
प्राप्त जानकारी के अनुसार कर्मियों की हड़ताल के चलते जिलेभर की 54 सोसायटियों सहित 440 पीडीएस दुकानों पर कामकाज बंद हो गया है। किसानों के पंजीयन के साथ वेयर हाउसेस से अनाज का परिवहन और खाद वितरण, ऋण वितरण आदि महत्वपूर्ण काम भी नहीं हो सकेंगे। कर्मियों ने बताया कि प्रमुख मांगों में सहकारी समितियों के प्रभारी प्रबंधक, सहायक प्रबंधक, विके्रताओं, लेखापाल, लिपिक, क प्यूटर ऑपरेटर, भृत्य, चौकीदार को शासकीय कर्मी घोषित कर मप्र सरकार के कर्मियों की भांति वेतन, बीमा आदि सुविधाओं का लाभ दिया जाए। वहीं पीडीएस में शासन द्वारा जो राशन काटा गया है, उसका शीघ्र आवंटन जारी किया जाए। साथ ही प्रशासन द्वारा कर्मियों पर जो मामले दर्ज किए हैं, उन्हें वापस लिए जाए। कई वर्षांे से पीडीएस कमिशन भुगतान नहीं किया हैं, उसे एक माह में दिया जाए। गेहूं, चना, सरसो, धान, ज्वार, बाजरा, मक्का आदि उपार्जन कार्य का कमिशन, प्रासंगिक व्यय जो कई वर्षांे से भुगतान नहीं किया हैं, उसके भुगतान के आदेश जारी किए जाए।
बड़वानी में 314, तो धवली में एक पंजीयन
नागरिक आपूर्ति विभाग प्रबंधक लोकेंद्रसिंह झाला ने बताया कि बुधवार तक जिले में समर्थन मूल्य के लिए कुल 3065 किसानों ने 6205 हेक्टेयर सिंचित रकबे के मान से पंजीयन करवाया है। इसमें गेहूं गेहूं बेचने के लिए 2975 और चना बेचने के लिए 192 किसान शामिल है। इसमें सर्वाधिक बड़वानी सोसायटी में 314, तो सबसे कम धवली सोसायटी में एकमात्र किसान ने पंजीयन करवाया है।

Show More
vishal yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned