सड़क किनारे बेहोश मिली युवती, इलाज के दौरान मौत

एबी रोड के किनारे युवती बेहोश मिली। हाईवे एम्बुलेंस उसे लेकर अस्पताल पहुंची। डॉक्टर्स के काफी प्रयास के बाद भी युवती की मौत हो गई।

By: संजय दुबे

Published: 18 Aug 2017, 02:08 PM IST

सेंधवा. एबी रोड स्थित ग्राम जामली में माध्यमिक विद्यालय के पास युवती बेहोश अवस्था में मिली। उसे हाईवे एम्बुलेंस से स्थानीय सिविल अस्पताल लाया गया। चिकित्सकों ने आननफानन उसका उपचार शुरू किया। युवती की हालत काफी गंभीर थी। काफी प्रयास के बाद भी युवती को बचाया नहीं जा सका। मृतका पानसेमल क्षेत्र के ग्राम जाहुर की रहने वाली बताई गई।

मीनक्षी पिता गुलाब भोसले (18) एबी रोड के पास बेहोश अवस्था में पड़ी थी। आसपास कार्य कर रहे लोगों ने इसकी सूचना हाईवे एम्बुलेंस को दी। हाईवे एम्बुलेंस मौके पर पहुंची और युवती को लेकर तत्काल सिविल अस्पताल पहुंची। युवती की हालत अत्यंत गंभीर थी। अस्पताल में डॉ. जितेंद्र दूधी ने तुरंत युवती का इलाज शुरू किया। लगभग एक घंटे तक डॉ. दूधी युवती को बचाने के लिए प्रयास करते रहे। लेकिन युवती की इलाज के दौरान ही मौत हो गई। लगभग दो घंटे बाद युवती के परिजन भी अस्पताल पहुंचे। अस्पताल पहुंचे युवती के पिता गुलाब भोसले ने बताया मृतका मानसिक रूप से कमजोर थी। उसका उपचार भी कराया जा रहा था। बताया कि मीनाक्षी मां के साथ बस से जाहुर जा रही थी। इसी दौरान मीनाक्षी लवाणी में रिश्तेदार के घर जाने की बात बोलकर बस से उतर गई थी। इसके बाद मीनाक्षी एबी रोड जामली के पास बेहोश अवस्था में मिली। जानकारी मिलने पर ग्रामीण थाना पुलिस भी अस्पताल पहुंची। पुलिस की ओर से मर्ग कायम किया गया है। शव को सिविल अस्पताल के पोस्टमॉर्टम रूम में रखवाया गया है। शुक्रवार सुबह पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा।

 

ग्रामीण ने की खुदकुशी
ग्रामीण क्षेत्र के ग्राम छोटी जुलवानिया में गुरुवार को मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति ने खुदकुशी कर ली। वह फंदा बनाकर झूल गया। इससे उसकी मौत हो गई। इसको लेकर ग्रामीण थाने में मर्ग कायम किया गया है। ग्रामीण थाने से मिली जानकारी के अनुसार रूपसिंग पिता गुलाल (40) निवासी छोटी जुलवानिया ने चारण फल्या स्थित खेत में नीम के पेड़ पर फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली। सुबह उसकी पत्नी ने शव को देखा। इसके बाद ग्रामीणों ने ग्रामीण थाना पुलिस को जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल भेजा गया। पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। प्रधान आरक्षक शाकिर अली ने बताया मृतक मानसिक रूप से कमजोर बताया गया। वह कई बार बिना बताए घर छोड़कर कहीं चला जाता था। बीते बुधवार की रात सात बजे वह घर से चला गया था। सुबह उसका शव खेत में मिला। मृतक के पांच बच्चे हैं।

संजय दुबे Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned