बिना मास्क धूम रहे लोगों को पुलिस ने सिखाया सबक, अस्थाई जेल में मैं और मेरा मास्क विषय पर लिखवाया निबंध

वीडियो मैसेज के माध्यम से मास्क नहीं पहनने की अपनी गलती भरा संदेश सोशल मीडिया पर कराया पोस्ट

By: Amit Onker

Updated: 04 Apr 2021, 11:56 PM IST

बड़वानी. जिला मुख्यालय पर रविवार को दूसरे दिन भी रोको-टोको अभियान के तहत बिना मास्क पहने लोगों को अस्थाई जेल का रास्ता दिखाया गया। हालांकि इस दौरान लोग बेशर्मी की हद पार करते दिखे। रणजीत क्लब में बनाई अस्थाई जेल में ऐश-आराम के मामले भी दिखे। कई युवक मोबाइल पर गेम खेलकर टाइम पास करते रहे, तो कई पंखों की हवा में आराम करते दिखे। वहीं कई लोगों से चालान वसूलकर रवाना भी किया गया।रणजीत क्लब के सामने एसडीएम घनश्याम धनगर के निर्देशन में राजस्व, नगर पालिका, पुलिस व शिक्षा विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने सुबह 11 बजे से कार्रवाई शुरु की। इस दौरान बिना मास्क के सड़कों पर घूम रहे लोगों को अस्थाई जेल पहुंचाया। इस दौरान अस्थाई जेल में लोगों को पेज व पेन देकर मैं और मेरा मास्क, विषय पर निबंध लिखवाए।
युवाओं ने मानी गलती
कई युवाओं ने अपनी गलती मानते हुए आगे से मास्क लगाने की बात लिखी। वहीं मोबाइल पर वीडियो मैसेज के माध्यम से भी मास्क नहीं पहनने की अपनी गलती भरा संदेश भरा पोस्ट लिख कर उसे अपने सोशल स्टेट्स पर पोस्ट कर परिचितों से ऐसा ना करने का आह्वान किया। वहीं कुछ युवाओं के बड़े मार्मिक अंदाज में अपने विचार को निबंध के रूप में लिपिबद्ध कर उसे सोशल स्टेटस पर पोस्ट भी किया। एसडीएम व सीएमओ ने बताया कि रविवार को 70 से अधिक लोगों के चालान बनाकर अस्थाई जेल पहुंचाया गया।

Amit Onker
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned