50 फीसदी दूध व्यवसाय घटा, पशुपालक परेशान

कोरोना लॉकडाउन: 16 लाख लीटर से अधिक दूध किया जाता था संकलन, आधा रह गया

Vinod Sharma

26 Mar 2020, 12:19 AM IST

शाहपुरा। कोरोना वायरस को लेकर सरकार ने लॉकडाउन कर हाई अलर्ट कर दिया है। लघु उद्योग-धंधे व व्यापार के साथ इसका असर दूध व्यापार पर भी दिखाई दे रहा है। ढाबे, मिष्ठान भण्डार, मावा फैक्ट्रियां बंद होने से दूध कारोबार लगभग ठप सा हो गया है। स्थानीय मिल्क कलेक्शन सेंटर तथा मिल्क प्लांट संचालकों ने दूध के काम को फिलहाल बंद कर दिया है। हालांकि सरस डेयरी दूध का संकलन कर रही है, लेकिन उसने भी आधा कर दिया है। इसका सबसे ज्यादा नुकसान पशुपालकों को झेलना पड़ रहा है।

दूध की बिक्री नहीं
जयपुर जिले में सरस एवं अन्य निजी डेयरियों की ओर से एक दिन में 16 लाख लीटर से अधिक दूध संकलन किया जाता था। वह अब आधा ही रह गया है। दूध की बिक्री नहीं होने से पशुपालक परेशान है। जयपुर सरस मुख्यालय के अधीन आठ जोन शामिल है। जिनमें एक दिन दो जोन को बंद रखकर दूध का संकलन किया जा रहा है। वहीं कई निजी डेयरी संचालकों ने दूध लेना बंद कर दिया है। पशु पालकों की आय का मुख्य स्रोत दूध का संकलन कम होने से पशुपालकों का घर खर्च चलाना मुश्किल हो रहा है।

कालाडेरा व बस्सी में डेयरी बंद
 सरस डेयरी अधिकारियों के मुताबिक घी व दूध पाउडर बनने की फैट्रियां बंद होने से दूध खप नहीं रहा है। ऐसे मेें एक दिन दो जोन बंदकर दूध का संकलन किया जा रहा है। बुधवार को कालाडेरा और बस्सी में दूध डेयरियां बंदी रखी गई है, जबकि गुरुवार को बिंदायका और चाकसू में डेयरियां बंद रखी जाएगी।

गांव से आने वाले दूधियों को रोक रही पुलिस
ग्रामीण इलाकों के दूधवालों को प्रशासन के आदेश के बाद भी पुलिस जयपुर शहर में प्रवेश नहीं दे रही है। इससे दूधियों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि, बचे हुए दूध से घी, खोया, पनीर, म_ा, छाछ आदि बना रहे हैं।

जयपुर जिले के अधीन ये जोन शामिल
सरस जयपुर मुख्यालय के अधीन कालाडेरा, बिंदायका, दूदू, चाकसू, बस्सी, दौसा, मानपुरा व शाहपुरा-कोटपूतली जोन में 13.50लाख लीटर तथा अन्य निजी डेयरियो से दूध संकलन होता था, लेकिन लॉकडाउन की वजह से वर्तमान में महज 8 लाख लीटर से कम दूध संकलन किया जा रहा है। इसका मुख्य कारण घी, पनीर व दूध पाउडर की फैट्रियों के बंद होना है।

vinod sharma Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned