Shahpura : ओबीसी के 8 जनों ने बनवाए एसटी के प्रमाणपत्र, प्रशासन ने किए निरस्त

Shahpura : ओबीसी के 8 जनों ने बनवाए एसटी के प्रमाणपत्र, प्रशासन ने किए निरस्त

Satya Prakash | Updated: 08 Aug 2019, 04:30:40 PM (IST) Bassi, Jaipur, Rajasthan, India

-संबंधित के खिलाफ थाने में मामला दर्ज कराने के एसडीएम ने दिए निर्देश

 


ओबीसी के 8 जनों ने बनवाए एसटी के प्रमाणपत्र, प्रशासन ने किए निरस्त

 

शाहपुरा।

 

ग्राम पंचायत छारसा निवासी एक परिवार के सदस्यों की ओर से फर्जी तरीके से गलत जाति प्रमाणपत्र बनवाने के मामले में कार्रवाई करते हुए उपखण्ड व तहसील प्रशासन ने जारी किए गए 8 लोगों के जाति प्रमाणपत्रों को निरस्त कर दिया है। ओबीसी में आने वाले राणा जाति के उक्त सदस्यों ने सरकारी लाभ लेने के लिए गलत तरीके से एसटी के प्रमाणपत्र बनवा लिए।

 

 

 

ग्राम पंचायत की ओर से मामले की शिकायत करने पर प्रशासन ने जांच में गलत पाए जाने पर प्रमाणपत्र निरस्त करने के निर्देश दिए। जिस पर ४ जनों के प्रमाणपत्र उपखण्ड अधिकारी ने और ४ के तहसीलदार ने निरस्त कर दिए हैं। साथ ही उपखण्ड अधिकारी ने तहसीलदार को संबंधित लोगों के खिलाफ पुलिस थाने में मामला दर्ज कराने के भी आदेश दिए हैं।

सरपंच के मुताबिक उक्त लोगों के माता पिता ओबीसी में होने के बावजूद बच्चों ने एसटी के प्रमाणपत्र बनवा लिए।

 

 

 

 

 

इनके प्रमाणपत्र किए निरस्त

छारसा ग्राम पंचायत सरपंच सीताराम पांडला की ओर से शिकायत करने के बाद प्रशासन ने प्रमाणपत्रों की जांच की। जांच में प्रमाणपत्र गलत पाए जाने पर तहसीलदार ने छारसा निवासी अमित पुत्र रामचरण, बबलू पुत्र मेघराज, मेघराज पुत्र कालूराम व मीना पुत्री रामचरण की ओर से बनवाए गए अनुसूचित जन जाति प्रमाणपत्रों को निरस्त कर दिया।

 

 

 

वहीं, उपखण्ड अधिकारी ने उपखण्ड कार्यालय की ओर से जारी किए गए छारसा निवासी बबलू पुत्र मेघराज, पूनम पुत्री रामचरण, पुजा पत्री रामचरण और राजेन्द्र पुत्र कालूराम के एसटी के प्रमाणपत्रों को निरस्त कर दिया। साथ ही उक्त सूचना ग्राम पंचायत के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करने के पंचायत को निर्देश दिए गए हैं।

 

 

 

 

 


यह था मामला

ग्राम पंचायत सरपंच के मुताबिक छारसा निवासी उक्त परिवार राणा जाति से है। पंचायत के रिकॉर्ड में भी राणा जाति अंकित है, जो कि ओबीसी में है। इसके बावजूद उनके परिवार के उक्त सदस्यों ने गलत तरीके से अनुसूचित जनजाति के प्रमाणपत्र बनवाए लिए।

 

 

उक्त परिवार के किसी सदस्य की ओर से वर्ष 2016 में किसी के खिलाफ थाने में एसटी एससी की रिपोर्ट दर्ज कराई तो मामले का पता चला। जिस पर ग्राम पंचायत सरपंच सीताराम पांडला ने एसडीएम, तहसीलदार व विकास अधिकारी को मामले में परिवाद दिया। जिला कलक्टर को भी शिकायत दी गई। जिस पर जांच के दौरान प्रमाणपत्र गलत पाए जाने पर प्रशासन ने उक्त सभी 8 जाति प्रमाणपत्रों को निरस्त कर दिया।

 

 

-----------
-छारसा निवासी एक राणा परिवार के सदस्यों ने एसटी के प्रमाणपत्र बनवा लिए थे। शिकायत पर जांच के दौरान प्रमाणपत्र गलत पाए जाने पर निरस्त कर दिए हैं। प्रशासन की ओर से अभी कोई मामला दर्ज नहीं कराया गया। ----संदीप चौधरी, तहसीलदार, शाहपुरा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned