शाहपुरा में पीडब्ल्यूडी एक्सईएन सहित 4 जनों को 30 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा, इलाके में मचा हडक़म्प

ठेकेदार से सिक्योरिटी डिपॉजिट पास करने की एवज के मांगी थी रिश्वत

By: Satya

Published: 27 Jul 2021, 09:43 PM IST


-शाहपुरा में पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन कार्यालय में एसीबी की कार्रवाई

-30 हजार की रिश्वत लेते एक्सईएन, खंडीय लेखाधिकारी, कनिष्ठ सहायक व दलाल गिरफ्तार


शाहपुरा। जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में रिश्वतखोर कर्मचारियों के खिलाफ एसीबी की कार्रवाई लगातार दूसरे दिन भी जारी रही। एसीबी की टीम ने मंगलवार को शाहपुरा में सार्वजनिक निर्माण विभाग के एक्सईन, दो कर्मचारी व एक दलाल सहित 4 जनों को 30 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा है।

एसीबी टीम की कार्रवाई से इलाके के कर्मचारियों में हडक़म्प मचा रहा। एसीबी के एएसपी नरोत्तम वर्मा के नेतृत्व में टीम की कार्रवाई करीब 6 घंटे तक चली। एसीबी की टीम ने मामले में सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता शाहपुरा अजीत जांगिड़, खंडीय लेखाधिकारी अशोक कुमार, कनिष्ठ सहायक संतोष वर्मा व उनके दलाल रामकरण ठेकेदार को पकड़ा है।


एसीबी के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि एक परिवादी ठेकेदार की शाहपुरा स्थित सार्वजनिक निर्माण विभाग में 10 लाख रुपए की डिपॉजिट राशि जमा थी। उसने विभाग में जमा डिपॉजिट राशि रिलीज करने के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग के कार्यालय में सम्पर्क किया। इस पर अधिशासी अभियंता व दोनों कर्मचारियों ने जमा सिक्योरिटी डिपॉजिट रिलीज करने के नाम पर 5 प्रतिशत कमीशन के हिसाब से 50 हजार रुपए रिश्वत के रूप में मांगे। इसको लेकर आरोपित उसे परेशान भी कर रहे थे। इसके बाद सौदा 30 हजार में तय हुआ।

परिवादी ठेकेदार ने इसकी एसीबी में शिकायत दर्ज करा दी। जिस पर एसीबी टीम ने शिकायत की करीब 7 दिन तक तस्दीक कराई। शिकायत सही पाए जाने पर एसीबी के एएसपी नरोत्तम वर्मा के नेतृत्व में एसीबी टीम ने मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे के आसपास शाहपुरा के डाक बंगला परिसर सार्वजनिक निर्माण विभाग के कार्यालय पहुंचकर जाल बिछाया। टीम ने इशारा पाकर आरोपितों को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथ दबोच लिया।


दलाल ने लेकर तीनों को बांट दी रिश्वत की राशि
एसीबी ने बताया कि दलाल शाहपुरा के वार्ड 3 निवासी हाल पीडब्ल्यूडी ठेकेदार रामकरण ने परिवादी से 30 हजार की रिश्वत लेकर रंगोली गार्डन जयपुर निवासी एक्सईएन अजीत जांगिड़, मधुकर कॉलोनी कोटपूतली निवासी खंडीय लेखाधिकारी अशोक कुमार व शाहपुरा के राजपुरा निवासी सार्वजनिक निर्माण विभाग में कनिष्ठ सहायक संतोष वर्मा को बांट दी। इस पर पहले से मौजूद एसीबी की टीम ने चारों को रंगे हाथ दबोच लिया।

आरोपियों के आवास व अन्य ठिकानों पर तलाशी जारी
शाहपुरा में रिश्वत लेते एक्सईएन व दो कर्मचारियों को पकडऩे के बाद एसीबी के अतिरिक्त महानिदेशक दिनेश एम एन के निर्देशन में एसीबी टीम की आरोपियों के आवास और अन्य ठिकानों पर भी तलाशी ली जा रही है। एएसपी ने बताया कि इस मामले में आरोपियों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है।

एक दिन पहले गठवाड़ी पटवारी चढ़ा था हत्थे
एसीबी की टीम ने एक दिन पहले जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में जमवारामगढ़ तहसील के गठवाड़ी में पटवारी भोलाराम को 2500 रुपए की रिश्वत लेते दबोचा था। पटवारी ने नामांतरण में संशोधन करने की एवज में रिश्वत मांगी थी। इलाके में लगातार एसीबी की यह दूसरी कार्रवाई है।

एसीबी की कार्रवाई से इलाके में मचा हडक़ंप, कर्मचारी लेते रहे जानकारी

जयपुर ग्रामीण इलाके में एसीबी द्वारा लगातार की गई छापेमारी की कार्रवाई से विभिन्न सरकारी कार्यालयों में हडक़ंप मचा रहा। एसीबी की कार्रवाई के बाद क्षेत्र में काफी देर तक हलचल सी मची रही। विभिन्न कार्यालयों के कर्मचारी एक दूसरे को फोन कर कार्रवाई के बारे में जानकारी लेते रहे। कार्रवाई के बारे में जानकारी मिलने पर क्षेत्र में चर्चाओं का दौर भी चलता रहा। कार्रवाई के दौरान यहां काफी संख्या में लोग भी पहुंच गए।

ढाई साल से पड़ी थी 10 लाख राशि, देने में कर रहे थे आनाकानी

एसीबी की टीम ने बताया कि शिकायतकर्ता ठेकेदार ने करीब दो-ढाई साल पहले कार्यालय के अन्तर्गत निर्माण कार्य किया था। तब से उसकी 10 लाख की सिक्योरिटी राशि जमा थी। जिसे मांगने के बावजूद पीडब्ल्यूडी एक्सईएन अजीत जांगिड़ व दोनों कर्मचारी आनाकानी कर रहे थे। सिक्योरिटी राशि बार बार मांगने पर आरोपियों ने उससे राशि रिलीज करने के बदले में 5 प्रतिशत कमीशन के हिसाब से 50 हजार रुपए की रिश्वत मांगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned