मिलावटी मावा तैयार कर स्वास्थ्य से कर रहे थे खिलवाड़, पुलिस व खाद्य सुरक्षा टीम ने किया पर्दाफास

पिता-पुत्र को किया गिरफ्तार, सामग्री भी बरामद

By: Satya

Published: 29 Jul 2020, 09:40 PM IST


शाहपुरा। त्यौहारी सीजन को देखते हुए मिलावट खोर मिलावटी मावा तैयार कर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने में जुटे हैं। शाहपुरा थाना पुलिस ने बुधवार को थाना इलाके के ग्राम भाबरू में मिलावटी मावा बनाने वालों का पर्दाफास कर आरोपी पिता-पुत्र को गिरफ्तार किया है। जयपुर ग्रामीण एसपी की ओर से मिलावट खोरी के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत खाद्य सुरक्षा और शाहपुरा थाना पुलिस की टीम ने ग्राम भाबरू में कार्रवाई कर मिलावटी मावा बनाने वाले पिता-पुत्र को पकडक़र सामग्री जब्त की है।

पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से मिलावटी मावा बनाने के काम लिए जाने वाला मिल्क पाउडर, सूजी, कलाकंद, रिफाइंड तेल, ग्लूकोज सहित कई तरह की सामग्री बरामद की है। शाहपुरा थाना प्रभारी दीपक खण्डेलवाल ने बताया कि शाहपुरा थाना इलाके के ग्राम भाबरू में मिलावटी मावा बनाने की मुखबिर से सूचना मिली थी। इस पर उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया।

अधिकारियों के निर्देश पर खाद्य सुरक्षा टीम और थाना प्रभारी खंडेलवाल के नेतृत्व में पुलिस टीम ने संयुक्त कार्रवाई कर भाबरू के आचार्य मोहल्ले में छापा मारकर रामपुर चौहाना थाना बानसूर अलवर निवासी रामसिंह पुत्र विशम्भर दयाल व विशम्भर दयाल पुत्र बनवारी राम को मिलावटी मावा बनाते हुए पकड़ा। पुलिस गिरफ्तार दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

मौके से कई तरह की सामग्री बरामद, शाहपुरा में भी मार छापा
थाना प्रभारी खंडेलवाल ने बताया कि टीम ने दोनों आरोपियों को पकडक़र उनके कब्जे से 10 कट्टे मिल्क पाउडर, 2 कटटे सूजी, 40 पैकेट कलाकंद, 10 लीटर रिफाईन्ड तेल, 10 किलो ग्लूकोज, 5 किलो टार्टिक व 25 किलो चीनी बरामद की है।

पुलिस के मुताबिक मिलावटी मावा बनाने वाले दोनों आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि मावा शाहपुरा निवासी अमरचंद सैनी के कहने पर बनाते हैं और उक्त सामान भी उसके गोदाम से खरीदते हैं। जिस पर टीम ने शाहपुरा में उसके गोदाम पर छापा मारा तो गोदाम में 225 पैकेट स्वीट केक, 40 बिना लेबल के स्वीट केक व सोहन पपड़ी के ५८ पैकेट बरामद किए। अमरचंद अपने गोदाम से फरार हो गया। जिसकी तलाश की जा रही है।

त्यौहार पर करते थे मिलावटी मावे की सप्लाई

आरोपी त्यौहारों के दौरान मांग बढऩे पर नकली मावा तैयार कर दुकानों पर सप्लाई कर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे थे। थाना प्रभारी के मुताबिक आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे त्यौहारों पर मांग बढऩे पर उक्त बरामद सामग्री से मिलावटी मावा तैयार करते हैं। फिर बाजार में मिठाइयों की दुकानों पर इसे बेचते थे। इस मिलावटी मावा को खाने से व्यक्ति के शरीर में कई तरह की बीमारियां हो सकती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned