हैरिटेज में मेयर चुनने की कवायदः देर रात कांग्रेस पार्षदों की बाड़ेबंदी, महापौर के लिए कई नाम चर्चा में

-पांच निर्दलीय प्रत्याशी भी पहुंचे बाड़ाबंदी में, 6 निर्दलीय प्रत्याशियों को भी लाने की कोशिश, सी-स्कीम के होटल में 47 कांग्रेस और पांच निर्दलीयों को किया गया शिफ्ट , 10 नंवबर तक बाड़ाबंदी में रहेंगे पार्षद, बाड़ाबंदी के दौरान शुरू होगी महापौर चुनने की कवायद , महापौर के लिए सुनिता महावर, राबिया गुडएज और मुनेश कुमारी का नाम चर्चा में

By: firoz shaifi

Updated: 04 Nov 2020, 10:26 AM IST

जयपुर। हैरिटेज नगर निगम में बोर्ड बनाने और अपना महापौर चुनने की कवायद के तहत देर रात कांग्रेस ने अपने पार्षदों की बाड़ाबंदी कर दी। कांग्रेस के 47 पार्षदों को सी-स्कीम के बड़े होटल में ठहराया गया है। कांग्रेस के साथ ही 5 निर्दलीय प्रत्याशी भी बाड़ाबंदी में पहुंचे।

बताया जा रहा है कि 10 नवंबर तक पार्षद बाड़ाबंदी में रहेंगे। इस तरह 52 पार्षदों की बाड़ाबंदी कर दी गई है। सूत्रों की मान तो 6 निर्दलीय प्रत्याशियों से भी लगातार संपर्क किया जा रहा है कि चर्चा है कि शाम तक 6 निर्दलीय पार्षद भी कांग्रेस की बाड़ाबंदी में पहुंच सकते हैं।

बाड़ाबंदी के दौरान परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, मुख्य सचेतक महेश जोशी, अमीन कागजी और रफीक खान भी होटल में रहेंगे। वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और प्रदेश के सह प्रभारी तरुण कुमार भी बाड़ाबंदी में ही मौजूद हैं।

ट्रेनिंग के दौरान होगी महापौर चुनने की प्रक्रिया
सूत्रों की माने तो महापौर का पद ओबीसी महिला के लिए आरक्षित है ऐसे में बाड़ाबंदी के दौरान पार्षदों को महापौर के नाम पर सर्वसम्मति बनाने के साथ ही महापौर के चुनाव में किस तरह वोट डालना है इसकी ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

महापौर के लिए इनके नाम चर्चा में
सूत्रों की माने तो कांग्रेस में ओबीसी महिला के लिए वैसे तो कोई बड़ा चेहरा सामने नहीं है लेकिन कांग्रेस में महापौर के लिए जिन चेहरों के नाम चर्चा में हैं उनमें सुनिता महावर, मुनेश कुमारी और निर्दलीय चुनाव जीतीं राबिया गुडएज हैं।

इनमें सुनिता महावर का नाम सबसे प्रबल माना जा रहा है महावर प्रदेश कांग्रेस की पूर्व प्रवक्ता होने के साथ ही तीसरी बार पार्षद चुनकर आई हैं तो वहीं राबिया गुडएज पहले कांग्रेस और अबकी बार निर्दलीय चुनाव जीती हैं राबिया कांग्रेस के एक बड़े राजनीतिक परिवार से संबंध रखती है। अगर अल्पसंख्यक वर्ग से महापौर बनाने पर सर्वसम्मति बनती है तो राबिया का नाम आगे किया जा सकता है।

हाईब्रिड फॉर्मूले की भी चर्चा
वहीं चर्चा ये भी है कि कांग्रेस में महापौर पद के लिए हाईब्रिड फॉर्मूले को भी अपनाया जा सकता है। इसके तहत बिना चुनाव लड़ी महिला को भी महापौर बनाया जा सकता है। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने भी नगर निगम चुनाव की घोषणा के बाद हाईब्रिड फॉर्मूले की बात कही थी। अगर ये फार्मूला लागू किया गया है तो माना जा रहा है कि किसी बड़े नेता के परिवार से महापौर बनाया जा सकता है।

firoz shaifi Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned