कोरोना संक्रमण: बेजुबानों की जान जोखिम में

क्षेत्र के अलवर तिराहे पर सैकड़ों बेजुबान भूख, प्यास के मारे दम तोडऩे के कगार पर है

विराटनगर। देश में फैले कोरोना वायरस महामारी ने बेजुबान के सामने पेट भरने का संकट खड़ा कर दिया है। क्षेत्र के अलवर तिराहे पर सैकड़ों बेजुबान बंदर भूख, प्यास के मारे दम तोडऩे के कगार पर है। अब तक दुकानदार और आसपास के रहवासी गुजरते समय इनके लिए खाने की व्यवस्था करते रहते थे, लेकिन इन दिनों हाल बे हाल हो गया है। 

पिछले कई सालों से सैकड़ों बंदर
यहां बंदरों की हालात को देखकर यहां से गुजर रहे विराटनगर विधायक ने बंदरों के लिए केले एवं बिस्किट की व्यवस्था करवाई एवं एसडीएम राजवीर सिंह यादव को बंदरों के लिए नियमित खाने-पीने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। जानकारी के अनुसार उपखंड क्षेत्र के अलवर तिराहे पर पिछले कई सालों से सैकड़ों बंदर रहते हैं। जिनको आसपास के दुकानदार व यहां से गुजरने वाले वाहन चालक खाने पीने का सामान डालते थे। लेकिन लॉकडाउन से आवाजाही व दुकानें बंद होने से इनके खाने का संकट हो गया। इससे कई कमजोर बंद दम तोड़ चुके।

सरपंच ने ली पानी की जिम्मेदारी
ये हालात देख विधायक इंद्राज गुर्जर ने इनके खाने की व्यवस्था कर एसडीएम कार्यालय कर्मचारी,एक दिन तहसील कार्यालय कर्मचारी, एक दिन पंचायत समिति कार्यालयकर्मियों के द्वारा दो क्विंटल केले व पानी का टैंकर डलवाने के लिए पाबंद किया। इसके बाद प्रत्येक ग्राम पंचायत सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी को एक-एक दिन व्यवस्था करने के लिए पाबंद किया जाएगा। विधायक के निर्देश के बाद जवानपुरा सरपंच जयराम पलसानियां ने प्रदेश में लॉकडाउन चलने तक इन बेजूबान बंदरों के पीने के पानी की व्यवस्था की जिम्मेदारी ली।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned