सिर को चीरकर निकली रिवॉल्वर की बुलेट

शाहपुरा थाना प्रभारी वीरेन्द्र सिंह की मौत मामला

By:

Published: 20 Jul 2018, 11:13 PM IST

शाहपुरा/चंदवाजी. शाहपुरा पुलिस थाने के प्रभारी वीरेन्द्र सिंह राठौड़ की मौत पुलिस महकमे से लेकर हर किसी के लिए पहेली बनी हुई है। उनकी मौत से हर कोई हैरान है। घटना के बाद देर गुरुवार देर रात 2 बजे तक पुलिस महकमे के आला अधिकारी, एफएसएल और डॉग स्क्वायड की टीम जांच पड़ताल में जुटी रही। घटना से स्तब्ध काफी संख्या में लोगों की भीड़ बारिश में भी थाने के बाहर जुटी रही। जांच के बाद देर रात शव को चंदवाजी के समीप निम्स अस्पताल में भिजवाया गया। इसके बाद थाने के बाहर डटे लोग वापस लौटे। इधर, दोपहर करीब 1 बजे कलक्टर के निर्देश पर फोरेंसिक एक्सपर्ट और मेडिकल ज्यूरिस्ट की तीन चिकित्सकों के टीम ने निम्स अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम के बाद शव को अजमेर जिले में पुष्कर के पास पैतृक गांव नांद के लिए रवाना किया। वहां अंतिम संस्कार किया गया। मामले की जांच चंदवाजी थाना प्रभारी राजवीर सिंह राठौड़ को सौंपी गई है। जांच अधिकारी राठौड़ ने बताया कि अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। पुलिस हर पहलू को ध्यान रखते हुए जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि क्वार्टर के जिस कमरे में थाना प्रभारी मृत मिले थे, उसे सील कर रखा है। जांच अधिकारी ने बताया कि उनके कमरे की तलाशी के साथ ही मोबाइल कॉल सहित अन्य सभी बिन्दुओं के आधार पर जांच की जाएगी। मृतक थाना प्रभारी के चचेरे भाई सेवानिवृत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ज्ञानेन्द्र सिंह ने शाहपुरा थाने में अकस्मात गोली चलने से मौत होने की रिपोर्ट दी है।
दूसरे दिन कमरे में मिली बुलेट
सूत्रों के मुताबिक पोस्टमार्टम के दौरान सामने आया कि गोली एसएचओ के दायीं कनपटी के पास से सिर को चीरकर बाईं तरफ आर-पार निकल गई। घटना के बाद रात को अंदेशा जाहिर किया जा रहा था कि रिवॉल्वर की गोली सिर में ही है। लेकिन पोस्टमार्टम से पहले सुबह जब सिर का एक्स-रे करवाए गए तो गोली नहीं दिखी। एफएसएल टीम ने शुक्रवार दोपहर को वापस थाने में आकर क्वार्टर की बारीकी से जांच की। तब रिवॉल्वर की गोली बैड के पास कपड़ों में मिली। हालांकि चिकित्सकों के बोर्ड ने मेडिकल रिपोर्ट अभी पुलिस को नहीं सौंपी है। पुलिस जांच करेगी कि बुलेट सर्विस रिवाल्वर की है।
क्वार्टर पर जाने से पहले ली थी रिवॉल्वर
सूत्रों के मुताबिक थाना प्रभारी ने क्वार्टर पर जाने से पहले मालखाना इंचार्ज से रिवॉल्वर ली। इसको लेकर भी लोग कई तरह के कयास लगा रहे हैं। गुरुक्रवार शाम ऑफिस में बैठकर नियमित कामकाज निपटाया। डाक वगैरह भी देखी। इसके बाद मालखाना इंचार्ज से रिवॉल्वर मांगी और क्वार्टर की तरफ चले गए थे। देर शाम करीब 7.40 बजे बाद लांगरी जब क्वार्टर में पहुंचा और आवाज लगाई तो कोई जवाब नहीं मिला।
दरवाजा खोला तो थाना प्रभारी अपने बैड पर खून से लथपथ नजर आए। उनको लहूलुहान हालत में देख लांगरी ने अन्य साथी पुलिसकर्मियों को सूचना दी। इसके बाद थाना प्रभारी के मौत का पता चला।
देर रात डिप्टी स्पीकर भी पहुंचे थाने
घटना की सूचना पर देर रात डिप्टी स्पीकर राव राजेन्द्र सिंह और विराटनगर विधायक डॉ. फूलचंद भिण्डा ने भी थाने में पहुंचकर घटना की जानकारी ली। रात करीब २ बजे तक आईजी हेमंत प्रियदर्शी, एसपी ग्रामीण रामेश्वर सिंह, तहसीलदार सूर्यकांत शर्मा, ईओ फतेह सिंह मीणा समेत कई अधिकारी थाने में मौजूद रहे।
पूजा कर दोपहर में किया था भोजन
थाना प्रभारी ने दोपहर में थाना परिसर में बने मंदिर में पहले पूजा की और इसके बाद क्वार्टर पर जाकर भोजन किया था। इससे पहले वे अस्पताल में एक शव का पोस्टमार्टम करवाकर आए थे। क्वार्टर में आराम करने के बाद वे शाम पांच बजे पुलिस थाने में आए थे और ऑफिस में नियमित कामकाज निपटाया। इसके बाद मालाखाना प्रभारी से रिवॉल्वर ली और वापस क्वार्टर में चले गए थे।
जयपुर में बनवाया था मकान
गत छह माह पहले ही थाना प्रभारी ने जयपुर निर्माण नगर में नया मकान बनवाया था। जहां उनकी बेटी और पत्नी रहती हैं। कभी-कभार दोनों थाने के क्वार्टर में भी रहने आया करते थे। सूत्रों के मुताबिक परिवार के तीनों सदस्य बड़े खुश थे।
...और रो पड़ा नांद गांव
जैसी ही थाना प्रभारी का शव नांद गांव में पहुंचा हर किसी के आंखों में आंसू छलक पड़े। परिवार के सदस्यों का तो हाल बेहाल था। पत्नी और बेटी की आंखों से रुलाई थमने का नाम नहीं ले रही थी। परिवार के अन्य सदस्य बिलख रहे थे।
शाहपुरा से भी काफी संख्या में पहुंचे लोग
थाना प्रभारी मिलनसार और हंसमुख स्वभाव के थे। इसलिए शाहपुरा में सर्विस के दौरान विशेष लगाव हो गया। इसी के चलते उनकी मौत से हर कोई हैरान है। बड़ी संख्या में लोग अंतिम संस्कार में पहुंचे।
इनका कहना है...
शव का मेडिकल बोर्ड की ओर से पोस्टमार्टम करवाया गया है। अभी मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है। उनके मोबाइल कॉल डिटेल व कमरे की तलाशी ली जाएगी। अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी।
राजवीरसिंह, थाना प्रभारी, चंदवाजी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned