कपड़े की दुकान में आग से 20 लाख का नुकसान, देरी से पहुंची दमकल भी नकारा

झूलते तार बने दमकल के पहुंचने में बाधा

कोटपूतली. कस्बे की अति व्यस्ततम पुरानी सब्जी मंडी में बुधवार सुबह एक कपड़े की दुकान में आग से लाखों रुपए का कपड़ा व अन्य सामान जल गया। आसपास की दो दुकानों में भी लपटों से नुकसान हुआ, लेकिन समय रहते सामान बाहर निकाल देने से बचाव हो गया। पालिका की दमकल देरी से पहुंची, वहीं वॉल्व व पाइप खराब होने से आग पर पानी नहीं फेंक सकी। बाद में बहरोड़ से दमकल पहुंची और आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक सामान व कपड़े जलने से करीब 18 से 20 लाख का नुकसान हो गया।

जानकारी के अनुसार बाजार में जीवनराम राकेश कुमार पंजाबी की कपड़े की दुकान में सुबह बिजली के शार्ट सर्किट की वजह से आग लग गई। दुकान के बाहर लगे बिजली के मीटर में लगी आग केबल के सहारे दुकान के अन्दर तक पहुंच गई। दुकान में कपड़ा होने से आग तेजी से फैल गई। पालिका की दमकल पहुंची, लेकिन रास्ते में बिजली के तार झूलने से अटक गई। बाद में लोगों ने तारों को हटाकर जैसे तैसे दमकल को मौके पर पहुंचाया, लेकिन वाल्व खराब होने से अनुपयोगी साबित हुई। इससे लोगों में पालिका प्रशासन के खिलाफ आक्रोश रहा।

कपड़ा-फर्नीचर खाक

दुकान मालिक पूरणमल ने बताया कि दुकान में करीब 18 से 20 लाख का कपड़ा, रोकड़ खाते , फर्नीचर व अन्य सामान था। उसने बताया कि वह सुबह करीब 6.30 बजे दुकान से उधारी के कुछ जरूरी कागज निकाल कर ले गया था। इसके तुरंत बाद इसमें आग लग गई। लोगों की सूचना पर पहुंचा तब तक आग ने विकराल रूप ले लिया। उसने बताया कि मलमास समाप्त होने व शादी विवाह समारोह शुरू होने के कारण वह तीन दिन पहले ही माल का नया स्टाक लेकर आया था।

नकारा साबित हुई दमकल

वस्त्र व्यापार संघ के अध्यक्ष सुभाष मित्तल व महामंत्री गुरुप्रसाद अग्रवाल ने बताया कि बिजली के तारों के झुलने से दमकल को मौके पर पहुंचने में परेशानी हुई, जैसे तैसे दमकल पहुंची तो पानी नहीं फेंकने के कारण नकारा साबित हुई। इससे व्यापारी को अधिक नुकसान झेलना पड़ा। संघ के अध्यक्ष ने बताया कि बिजली के लाइनों के तार नीचे लटकने से पूर्व में कई हादसे हो चुके हैं। बिजली निगम के अधिकारियों को कई बार अवगत कराने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई।

पुराने बाजारों में रास्ते तंग

कस्बे की पुरानी सब्जी मण्डी में पुराना बाजार है। रास्ते काफी संकरे है। लम्बा बाजार में तो दमकल तो दूर चौपहिया वाहन भी नहीं जा सकते हंै। अतिक्रमण के कारण बाजारों में आगजनी होने पर दमकल का पहुंचना नामुमकिन है। दुकानों के आगे दूर तक सामान रखने और टीनशैड लगाने से बड़ वाहन नहीं गुजर सकते। इससे दमकल को घटनास्थल तक पहुंचने में मशक्कत करनी पड़ी।

राज्यमंत्री को दिया ज्ञापन

सूचना पर तहसीलदार अनूप सिंह व एसआई रविन्द्र आदि मौके पर पहुंचे । व्यापारियों ने बिजली के तार झूलने व अतिक्रमण की समस्याओं के बारे में बताया। तहसीलदार ने हलका पटवारी को आग से हुए नुकसान की रिपोर्ट देने को कहा। व्यापारियों ने पालिका ईओ विशाल यादव को भी फोन करके व्यापारियों की समस्याओं से अवगत कराया, लेकिन उन्होंने जयपुर में होने की बात कह कर पल्ला झाड़ लिया। वस्त्र व्यापारियों ने राज्यमंत्री व विधायक राजेंद्र सिंह यादव से मिलकर उन्हें ज्ञापन दिया और सरकार से व्यापारी को हुए नुकसान का मुआवजा देने की मांग की। मंत्री ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया। इस मौके पर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष मैथिलीशरण बंसल, अमित शर्मा, रामरतन सैनी, दिलीप मित्तल, दिनेश दीवान, ओमप्रकाश पंजाबी, राकेश छीपी, होशियार सिंह उपस्थित रहे।

Surendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned