पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणों का फूटा गुस्सा

पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणों का फूटा गुस्सा
-प्रशासन के खिलाफ जताई नाराजगी

By: Kailash

Published: 11 Jun 2020, 09:19 PM IST

शाहपुरा.
शाहपुरा इलाके में पेयजल को लेकर त्राहि-त्राहि मची हुई है। पेयजल को लेकर ग्रामीण हर रोज प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे है। गुरुवार को ग्राम देवीपुरा में पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणों का प्रशासन के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने करीब एक घंटे तक प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। सूचना पर पहुंचे कांग्रेस नेता प्रवीण व्यास, शाहपुरा नगर पालिका नेता प्रतिपक्ष रामावतार गुर्जर व जलदाय विभाग के कनिष्ठ अभियंता विकाश गुप्ता ने समझाइश कर लोगों को शांत किया।

 

आक्रोशित लोगों का कहना था कि लम्बे समय पेयजल समस्या से त्रस्त है। लोगों को निजी टैंकरों से पानी मंगवाना पड़ रहा है। इससे आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पेयजल समस्या को लेकर प्रशासन को कई बार अवगत कराया जा चुका है, लेकिन समस्सा का समाधान नहीं हो पा रहा है। इससे उपभोक्ताओं में प्रशासन के खिलाफ रोष व्याप्त है। उन्होंने आरोप लगाया कि पेयजल जलापूर्ति छोडऩे अनियमितता बरती जा रही है।

गांव एक लाइन में करीब २०० से अधिक कनेक्शन है। जबकि दूसरी लाइन में महज ९ कनेक्शन है। लोगों के विरोध की सूचना पर पहुंचे कांग्रेस नेता व्यास ने ग्राम पंचायत प्रशासन से वार्ता कर समस्या का समाधान कराने का भरोसा दिलाया। वहीं मौके पर पहुंचे कनिष्ठ अभियंता गुप्ता ने बताया कि सोमवार तक पेयजल लाइन की जांच की जाकर वंचित लोगों के नलों में पर्याप्त आपूर्ति करवाई जाएगी। इस मौके पर योगेश कुमार, फिरोज, इमरान, राकेश शर्मा, आशा देवी, संजू देवी, लक्की समेत काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे। कनिष्ठ अभियंता गुप्ता ने बताया कि देवीपुरा में पेयजल योजना पंचायत के अधीन है। ग्रामीणों के आरोप के तहत सोमवार तक पाइप लाइन की जांच की जाकर समस्या का समाधान कराया जाएगा।


यहां 48 घंटे में एक बार जलापूर्ति
शाहपुरा कस्बे में 48 घंटे में एक बार जलापूर्ति हो रही है। इससे लोगों को पेयजल समस्या का सामना करना पड़ रहा है। उपभोक्ताओं को कहना है कि ४८ घंटे में होने वाली जलापूर्ति भी पर्याप्त नहीं हो पाती है। पेयजल को लेकर उपभोक्ता बेहद परेशान है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned