एक पैर खोने के बाद भी नहीं टूटा हौंसला, मैराथन दौड़ में हिस्सा ले रहा नवाब

एक पैर खोने के बाद भी नहीं टूटा हौंसला, मैराथन दौड़ में हिस्सा ले रहा नवाब
एक पैर खोने के बाद भी नहीं टूटा हौंसला, मैराथन दौड़ में हिस्सा ले रहा नवाब

Satya Prakash | Updated: 23 Sep 2019, 06:57:20 PM (IST) Bassi, Jaipur, Rajasthan, India

नवाब ७ बार मैराथन दौड़ में ले चुका हिस्सा

एक पैर खोने के बाद भी नहीं टूटा हौंसला, मैराथन दौड़ में हिस्सा ले रहा नवाब

नवाब 7 बार मैराथन दौड़ में ले चुका हिस्सा


शाहपुरा। उड़ान पंखों से नहीं, बल्कि हौसलों से होती है। यह साबित कर दिखाया है शाहपुरा के एक युवक ने।


वर्ष 2014 में सड़क दुर्घटना में एक पैर खोने के बाद भी कस्बा निवासी युवक नवाब खान ने हार नहीं मानी। बल्कि उसने अपनी कमजोरी को ही ताकत बनाया और आगे बढऩे की मन में ठान ली।

शाहपुरा निवासी युवक नवाब खान के पिता सदरु खान ने बताया कि उसके पुत्र नवाब खान को बचपन से ही दौड़ का शौक था। वह बचपन से दौड़ प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेता रहता था, लेकिन नियती को कुछ और ही मंजूर था।

वर्ष 2014 में सड़क हादसे की वजह से नवाब का एक पैर घुटने के ऊपर से कट गया। इसके बाद उसके कृत्रिम पैर लगवाया गया। वह हॉस्पिटल से कृत्रिम पैर लगवाकर फिर से जिन्दगी की दौड़ में उतर पड़ा।


नवाब खान कठिन प्रयासों से उस मशीनी पैर से चलना ही नहीं दौडऩा सीख गया। पांव खो देने के बाद भी वह वर्तमान में मैराथन दौड़ में हिस्सा ले रहा है।

7 बार ले चुका दौड़ में हिस्सा
पिता सदरु खां ने बताया कि नवाब इससे पहले 10 किमी की 2 व 5 किमी की 5 बार मैराथन दौड़ में हिस्सा ले चुका है। साथ प्रतिदिन करीब 20 किमी साईकिल भी चलाता है। हाल ही जयपुर में आयोजित मैराथन दौड़ में भी नवाब ने हिस्सा लिया है। इससे साबित होता है कि उड़ान पंखों से नहीं, बल्कि हौसलों से होती है।

क्रीड़ा प्रतियोगिता का समापन


राड़ावास कस्बे के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में चल रही 64वीं प्राथमिक स्तरीय क्रीड़ा प्रतियोगिता का समापन कुण्डाधाम के महंत प्रहलाददास महाराज के मुख्य अतिथ्य व पूर्व सरपंच श्रीराम व्यास की अध्यक्षता और पूर्व प्रधान उर्मिला शर्मा के विशिष्ट आतिथ्य में समापन हुआ।

कुण्डाधाम के महंत प्रहलाददास महाराज ने कहा है कि पराजित छात्र-छात्राओं को निराश नहीं होना चाहिए। हार में ही सफलता का राज छुपा हुआ है। इसीलिए निरंतर जीत के प्रयास करना चाहिए।


पूर्व प्रधान शर्मा व पूर्व सरपंच व्यास ने कहा है कि खेलों में शारीरिक विकास के साथ-साथ आपसी समन्वय को बढ़ावा मिलता है।
प्रधानाचार्य कृष्ण कुमार शर्मा ने भी विचार व्यक्त किए। प्रतियोगिता संयोजक वीरेंद्र कुमार शर्मा ने प्रतियोगिता समापन का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।


शारीरिक शिक्षक सुरेन्द्र यादव ने बताया कि प्रतियोगिता में कबड्डी में जनता बाल निकेतन राडावास बालक वर्ग व बालिका वर्ग में व्यासों की ढाणी की टीम विजेता रही। खो खो में माजीपुरा बालक वर्ग व बालिका वर्ग में राड़ावास, 50 मीटर दौड़ में रोहित राडावास, 100 मीटर दौड़ में अंकित मजीपुरा, 100 गुना चार रिले दौड़ में अक्षय मजीपुरा, बालिका वर्ग में 50 मीटर में रीना, 100 मीटर में शालू गवारिया, रिले दौड़ में किट्टू यादव मनोहरपुर,


निबंध प्रतियोगिता में यूपीएस मथुरावाली, सांस्कृतिक लोक नृत्य-वेशभूषा में बालिका राडावास व सीनियर सैकण्डरी विद्यालय राडावास विजेता रही, वहीं ऊंची कूद में रोशन यादव जनता बाल निकेतन विद्यालय, शालू गवारिया, लंबी कूद में बालिका विद्यालय राड़ावास, व विद्या यादव डीपीसी मनोहरपुर, जिमनास्टिक में पिपलोद विद्यालय बालक वर्ग व बालिका वर्ग में कुम्भावतों की ढाणी राडावास विजेता रही।

अतिथियों ने विजेता रहे बालक बालिकाओं को प्रतीक चिन्ह व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर एसएमसी अध्यक्ष साधुराम बराला,

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned