Farmers Movement - अन्नदाता पर भारी पड़ रहा सर्दी में किसान आंदोलन

आंदोलन के कारण सब्जियां दिल्ली नहीं जा पाने के कारण लागत से भी कम भाव में बिक रही

By: Gourishankar Jodha

Updated: 29 Dec 2020, 11:29 PM IST

पावटा। इन दिनों चल रहा किसान आंदोलन व पड़ रही सर्दी सब्जी उत्पादकों अन्नदाताओं पर भारी पड़ रहा है। आंदोलन के कारण सब्जियां दिल्ली नहीं जा पाने के कारण लागत से भी कम भाव में बिक रही है। गत सप्ताह पड़े कोहरे व कड़ाके की सर्दी के कारण 20 से 25 प्रतिशत टमाटर, बैगन आदी की फसल झुलस गई।
किसान को पर्याप्त मूल्य नहीं मिल पाने से लागत से भी कम दामों पर ही सब्जियों को बेचना पड़ रहा है। किसान आंदोलन के कारण सब्जियां दिल्ली व अन्य मंडियों में नहीं जा पाने, स्थानीय मंडियों मेंं माल की खपत नहीं हो पा रही है। क्षेत्र में गत सप्ताह पड़े पाले के साथ पड़ी रही जोरदार ठण्ड ने सब्जियों की फसलों को झुलसा दिया है। खेतों ने सब्जियों के पत्ते झुलस जाने के बाद काले पड़ गए है। इस ठण्ड ने सब्जी की फसलों को 2० से25 फीसदी नुकसान पहुंचा है।

सब्जियों के भाव औंधे मुंह गिरे
किसान मदन यादव, महेश गढवाल, संतलाल अधाणा सहित अनेक किसानों की कमर लॉकडाउन में लगात से कम कीमत पर सब्जियां बिकने से टूटी हुई थी। रही सही कसर इस पाले ने पूरी कर दी। लाडाकाबास के पूर्व सरपंच मदन यादव ने बताया कि अब तक के पाले से टमाटर की फ सल को भारी नुकसान हुआ है। पावटा तहसील क्षेत्र मे 500 हैक्टेयर में सब्जियों की फसल बुआई हुई है। आंदोलन के कारण दिल्ली की सभी सीमाएं किसानों द्वारा सील कर देने से वाहनो के पहिये थम गए और भाव औंधे मुह गिर जाने से किसान आर्थिक मार झेल रहा है।

सब्जियां गौशाला में डाल रहे किसान
पावटा सब्जी मण्डी के आढ़तिया रामेश्वर सैनी, विनोद सैनी, राजू मदन सैनी, राजू सैनी सहित कई व्यापारियों का कहना है कि गोभी जो 15 रुपए बिक रही थी, अब 2 रुपए पर, टमाटर 25 से 18 रुपए पर गाजर 15 रुपए से 8 रुपए पर बिक रही है। इस मूल्य पर किसान का लागत मूल्य निकलना तो दूर खेते से पैकिंग कर पावटा सब्जी मण्डी तक लाने की लागत नहीं निकल पा रही है, जिससे किसान मायूस हो रहा है। इतनी कम कीमत पर लोग सब्जियां ले जाकर गौशाला में गायों को डाल रहे है। उल्लेखनीय है कि आंदोलन से पहले रोज दिल्ली 10 से 15 पिकअप सब्जियों की भर कर दिल्ली जाती थी, अब एक भी पिकअप नहीं जाती वहीं शादी ब्याह भी थम गए है।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned