कृषक नवीनतम अनुसंधानों से आर्थिक लाभ प्राप्त करें

श्रीकर्ण नरेंद्र्र कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति ने समीपवर्ती ग्राम पंचायत जोरपुरा, ढाणी बोराज स्थित कृषकों के खेतों में पहुंचकर कृषि संबंधी समस्याओं को लेकर किया संवाद

By: Gourishankar Jodha

Updated: 02 Sep 2020, 11:07 PM IST

जोबनेर। किसानों से आव्हान किया कि कृषि क्षेत्र में हो रहे नवीनतम अनुसंधानों को खेती में अपनाकर आर्थिक लाभ प्राप्त करने के प्रयास करने चाहिए। विवि में विभिन्न विषयों के वैज्ञानिकों के ज्ञान का लाभ किसानों को लेना चाहिए।
यह संवाद श्रीकर्ण नरेंद्र्र कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. जेएस सन्धू ने समीपवर्ती ग्राम पंचायत जोरपुरा, ढाणी बोराज स्थित कृषकों के खेतों में पहुंचकर कृषि संबंधी समस्याओं व जानकारियों को लेकर किया। इस दौरान उन्होंने किसानों से खेती में आ रही समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर मौके पर ही निराकरण हेतु अपनी टीम के साथ संवाद किया।

उन्नत व प्रमाणित किस्म का प्रयोग करंे
इससे पूर्व कुलपति जोरपुरा ग्राम पंचायत स्थित कृषक आनन्दीलाल कुमावत के बाजरे के खेत में पहुंचे और उनकी समस्याओं को सुना। उन्होंने कहा कि बुवाई के लिए बाजरे की उन्नत व प्रमाणित किस्म का प्रयोग करंे। इस दौरान अधिष्ठाता डॉ. एके गुप्ता, सस्य विज्ञान के विभागाध्यक्ष डॉ. एसी शिवरान, फ ार्म प्रभारी बीआर मीणा ने भी किसानों को बूंद सिंचाई पद्धति द्वारा जल के उपयोग व वर्षा जल संरक्षण के बारे में विवि में स्थित पोण्ड के बारे में जानकारी दी गई।

पशुपालन-पोण्ड के बारे में दी जानकारी
ग्राम पंचायत ढाणी बोराज में प्रगतिशील पशुपालक लिखमाराम पीपलोदा के खेत पर उनसे दुधारू नस्ल के पशुओं के बारे में चर्चा की। उन्होंने समेकित खेती के साथ मुर्गीपालन व पशुपालन से आर्थिक स्थिति मजबूत करने के उपायों के बारे में चर्चा की। ग्राम पंचायत सुरसिंहपुरा में किसान जोधाराम के खेत में वर्षा जल सरंक्षण के लिए बनाए गए पोण्ड के बारे में जानकारी प्राप्त की। किसान जोधाराम ने बताया कि एक बारिश से ही उनका पोण्ड भर गया है व इससे अब वे जौ, गेंहू की खेती कर सकेंगे साथ ही मछली उत्पादन के बारे में भी चर्चा की।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned