50 साल बाद मिला रास्ता

सरपंच की समझाइश से खेतों के मध्य से 12 फुट रास्ता कायम कर आवागमन सुगम बनाया

By: Gourishankar Jodha

Published: 14 Dec 2020, 11:15 PM IST

बधाल। कस्बे की बेगोलाई ढाणी से बारेठ, स्वामी व शंकर ताखर सहित पीपली की ढाणी में आने जाने के लिए सरपंच की समझाइश से खेतों के मध्य से 12 फुट रास्ता कायम कर आवागमन सुगम बनाया।
सरपंच सामोता ने बताया कि यह रास्ता खेतों के बीच से गुजरता है, जिससे इसके दोनों ओर के खेत मालिक आगे आन जाने के लिए आम रास्ता नहीं छोड़ रहे थे, केवल पगडंडी से पैदल आवागमन किया जा रहा था। जिससे बेगोलाई की ढाणी से आगे खेतों में बुआई जुताई व फसल लाने ले जाने में परेशानी आ रही थी।

12 फुट रास्ता कायम कर दिया
पांच दशकों से रास्ते को लेकर खेत मालिक परेशान थे। इसको लेकर शंकरलाल ताखर ने पंचायत को समस्या से अवगत करवाया तो सरपंच ने ग्राम के प्रबुद्ध जनों के सहयोग से दोनों और के खेत मालिक जीवण बारेठ को समझाकर व लक्ष्मण स्वामी को जमीन के बदले जमीन दिलवाकर 12 फुट रास्ता कायम कर दिया।

आवागमन हुआ सुगम
सरपंच विजय कुमार सामोता ने सड़कों व बाजार मौहल्लों की सफाई व रास्ते चौड़े व सुगम बनाने की पहल कर यहां के बाशिन्दों व दोनों तरफ के खेत मालिकों समझाकर जेसीबी से मिट्टी के डोल फुड़वाकर 50 साल से पगडंडी रास्ते को चौड़ा करवाकर समतल बनवाया, जिससे आवागमन सुगम हो गया और वार्डवासियों ने सरपंच की पहल की सराहना कर साधुवाद दिया। सरपंच सामोता का लोगों को समझाइश के समय सहयोग करने में बाबू भाई, बालूराम यादव, जगदीश, उमेश, भूपेन्द्र, दिलीप सिंह, शंकर, छीतर शिशपाल आदि की भूमिका अहम रही।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned